Top
Home > Archived > केंद्र को डोकलाम पर कूटनीतिक जीत की बधाई : शशि थरूर

केंद्र को डोकलाम पर कूटनीतिक जीत की बधाई : शशि थरूर

केंद्र को डोकलाम पर कूटनीतिक जीत की बधाई : शशि थरूर

नई दिल्ली। एक ओर जहां डोकलाम के मुद्दे पर चीन के साथ चल रहा गतिरोध सुलझने पर केंद्र सरकार ने सोमवार को विपक्षी नेताओं को इस बाबत जानकारी दी। वहीं शांतिपूर्ण समाधान को भारत की कूटनीतिक जीत करार देते हुए विपक्षी नेताओं ने सरकार की सराहना की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद शशि थरूर ने ट्वीटर पर कहा ‘विदेश मंत्रालय के राजनयिकों और प्रधानमंत्री कार्यालय का कुशल नेतृत्व सभी को इसका श्रेय जाता है।

समस्त देशवासियों की ओर से इसकी सराहना की जा रही है। उन्होंने कहा कि चीनी सेना को डोकलाम से हटने और वापस यथास्थिति पर लौटने के लिए तैयार करना विदेश मंत्रालय की कूटनीतिक जीत है। इसके लिए वह बधाई की पात्र है। इससे पहले सोमवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं को इस मामले से अवगत कराया था। सूत्रों के अनुसार सुषमा स्वराज ने मनमोहन और सोनिया के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद और उप-नेता आनंद शर्मा को इस बारे में जानकारी दी।

जिसके बाद कांग्रेस ने सिक्किम सेक्टर में डोकलाम इलाके में सीमा पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन के बीच बनी सहमति का स्वागत और समर्थन किया। शशि थरूर ने कहा कि चीनी सेना को डोकलाम से हटने और वापस यथास्थिति पर लौटने के लिए तैयार करना विदेश मंत्रालय की कूटनीतिक जीत है। इसके लिए वह बधाई का पात्र है। दूसरी ओर विदेश सचिव एस जयशंकर ने भी अलग से आनंद शर्मा को फोन किया और उन्हें मौजूदा स्थिति एवं डोकलाम में सीमा पर तनाव कम होने के बारे में बताया। जिसकी पुष्टि आनंद शर्मा ने की कि सरकार ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से पहले डोकलाम गतिरोध सुलझने के बारे में कांग्रेस नेताओं को जानकारी दी। पूर्व केंद्रीय मंत्री शर्मा ने कहा, जो सहमति हुई है, वह सकारात्मक घटना है जिसका हम समर्थन करते हैं। पार्टी ने भी इस मामले में कल अपनी प्रतिक्रिया में कहा था कि यदि डोकलाम से चीन और भारत की सेनाओं के हटने की बात स्थायी रूप से सच साबित होती है तो यह स्वागतयोग्य है। हालांकि पार्टी ने इस पर कुछ दिन इंतजार करने की बात भी कही थी।

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है, लेकिन किसी को बहुत ज्यादा उत्साहित नहीं होना चाहिए। सिंघवी ने कहा, आपने जो कुछ कहा है, यदि वह कुछ पल का सच नहीं होकर स्थायी, दीर्घकालिक या कम से कम मध्यम स्तर का सच भी हो तो मुझसे और मेरी पार्टी से ज्यादा खुश कोई नहीं होगा। हालांकि, कुछ होने पर घबराहट की स्थिति में जैसे नहीं जाना चाहिए, वैसे ही ज्यादा उत्साहित भी नहीं होना चाहिए।

गौरतलब है की भारत और चीन की सेनाओं के बीच सिक्किम सेक्टर से लगते डोकलाम क्षेत्र में पिछले लगभग ढाई महीने से चला आ रहा गतिरोध कल दोनों देशों के विवादित क्षेत्र से अपने सैनिकों को हटाने के साथ ही खत्म हो गया।

Updated : 2017-08-29T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top