Top
Home > Archived > डेरा प्रमुख पर फैसले का ग्वालियर में भी असर, कई ट्रेनें रद्द, यात्रियों ने किया हंगामा

डेरा प्रमुख पर फैसले का ग्वालियर में भी असर, कई ट्रेनें रद्द, यात्रियों ने किया हंगामा

डेरा प्रमुख पर फैसले का ग्वालियर में भी असर, कई ट्रेनें रद्द, यात्रियों ने किया हंगामा

-पंजाब मेल को आगरा व अमृतसर एक्सप्रेस को ग्वालियर में रोका
ग्वालियर। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ विशेष अदालत के फैसले का असर शुक्रवार की दोपहर से ग्वालियर में भी देखने मिला। यौन उत्पीड़न के मामले में डेरा प्रमुख को दोषी करार दिए जाने के बाद बने हालात के कारण पंजाब जाने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। रेलवे प्रशासन ने पंजाब और हरियाणा जाने वाली ट्रेनों को रद्द करने का निर्णय शुक्रवार की दोपहर अचानक लिया। इसका असर ग्वालियर से गुजरने वाली करीब आधा दर्जन ट्रेनों पर पड़ा है। बिलासपुर से अमृतसर जाने वाली छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस 28 तारीख तक रद्द कर दी गई है। इसके अलावा जम्मूतवी-दूर्ग को भी 27 और 28 अगस्त को रद्द किया गया है। वहीं रेलवे ने मुंबई से फिरोजपुर जाने वाली पंजाबमेल को आगरा में ही रोक दिया। जिसके चलते यात्रियों ने आगरा स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। वहीं दादर से चलकर अमृतसर की ओर जाने वाली अमृतसर एक्सप्रेस को रेलवे ने ग्वालियर में रोक दिया। चंडीगढ़ व अमृतसर वाले यात्रियों को जब इस बात का पता चला कि ट्रेन अमृतसर नहीं जाएगी तो यात्रियों ने रेलवे स्टेशन पर जमकर हंगामा किया। यात्रियों ने कहा कि हमने पूरा किराया दिया है तो हमें बीच में ही क्यों उतारा जा रहा है। अब हम लोग अपने घर कैसे पहुंचेगें। हालांकि बाद में रेलवे के वाणिज्य अधिकारी सहित आरपीएफ के जवानों ने यात्रियों को हरियाणा और पंजाब की स्थिति बताई। जिसके बाद यात्रियों का गुस्सा शांत हुआ।

लॉ एंड आॅर्डर के चलते लिए गए इस फैसले से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि शुक्रवार को डेरा प्रमुख के खिलाफ न्यायालय के फैसले के बाद हरियाणा के पंचकुला सहित अन्य इलाकों में हालाब बेकाबू हो गए थे, जिसके चलते रेलवे ने यात्रियों की व ट्रेनों की सुरक्षा को देखते अचानक निर्णय लिया है।

रेल प्रशासन ने मुंबई, चंडीगढ़, पुणे से आने वाली एवं जम्मू, पंजाब, हरियाणा, माता वैष्णो देवी जाने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है। ऐसे में पहले से योजना बनाए कई लोगों की उम्मीदों को झटका लगा है। वहीं, ग्वालियर स्टेशन पर रुकने वाली ट्रेनों को तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया है। रेल प्रशासन ने सचखंड एक्सप्रेस, झेलम एक्सप्रेस, अंडमान एक्सप्रेस को रद्द किया है। यह ट्रेन डाउन मैन लाइन की है। रेल मंत्रालय के नए आदेश तक इनको रद्द कर दिया गया है। शुक्रवार को पांच ट्रेनें रद्द रहने से यात्रियों को खासी परेशानी उठानी पड़ी। कई ट्रेनों को दिल्ली स्टेशन पर रोक लिया गया है। इसके बाद यात्री दूसरे परिवहन साधनों से अपने गंतव्य तक पहुंचे।

दिल्ली से झांसी तक हाईअलर्ट, पटरियों पर आरपीएफ के जवान तैनात

यात्रियों ने कहा किराया पूरा लिया है तो बीच में ही क्यों उतार दिया

टिकट रद्द कराने के लिए लगी लाइन छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस 28 तक रद्द

स्थिति सामान्य होने पर चल सकती है ट्रेनें

रेल प्रशासन ने दिल्ली से आगरा जाने वाली छह ट्रेनों को रद्द कर दिया है। इन ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया है। स्थिति सामान्य होने पर रविवार को चल सकती है। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि मालवा एक्सप्रेस,झेलम एक्सप्रेस, पंजाब मेल, अंडमान एक्सप्रेस और सचखंड एक्सप्रेस आंशिक रूप से रद्द रहेंगी।

आरपीएफ व जीआरपी रही सतर्क

पंजाब और हरियाणा में हुई हिंसा को देखते हुए रेलवे ने भी सभी विभागों को सतर्क रहने के निर्देश बीते रोज ही दे दिए थे। जिसके चलते दिल्ली से झांसी तक हाईअलर्ट घोषित कर दिया था। साथ ही आरपीएफ के जवान रेलवे ट्रैक पर पेट्रोलिंग करते हुए नजर आए।

आज नहीं आएंगी पंजाबमेल व झेलम एक्सप्रेस

रेलवे ने पंजाबमेल व झेलम एक्सप्रेस को 26 अगस्त के लिए रद्द कर दिया है। साथ ही छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस जो अमृतसर से शाम 4 बजे चलती है और ग्वालियर सुबह 10 बजकर 50 मिनट पर आती है उसे भी रेलवे ने रद्द कर दिया है। वहीं बिलासपुर से चलने वाली छत्तीसगढ़ को भी 28 अगस्त के लिए रद्द कर दिया है।

30 हजार यात्री करते हैं यात्रा

ग्वालियर रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन 30 हजार के आसपास यात्री यात्रा करते हैं। ट्रेनें रद्द होने से कई यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दिल्ली से आगे के टिकट नहीं मिले

जैसे ही रेलवे के अधिकारियों को झांसी मंडल से निर्देश मिले, वैसे ही रेलवे के टिकट काउंटर पर किसी भी यात्री को दिल्ली के आगे के टिकट नहीं दिए गए। साथ ही यात्रियों को एनाउंसमेंट के द्वारा बताया जा रहा था कि वह जिस गाड़ी से अपने गंतव्य को जाना चाहते है उसके बारे में पहले पूछताछ कार्यालय में जानकारी प्राप्त करें।

पंचकूला में हुई हिंसा में ग्वालियर और मुरैना के लोग भी शामिल!

डेरा प्रमुख राम रहीम के लाखों समर्थकों द्वारा पंचकूला और कई स्थानों पर की गई हिंसा में ग्वालियर और मुरेना के लोग भी शामिल हैं। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं जो एक विशेष समुदाय की बताई जा रही हैं। शुक्रवार को लगभग ढाई बजे साध्वी यौन मामले में पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा राम रहीम को दोषी करार करने की सूचना जैसे ही समर्थकों को लगी तो उन्होंने हिंसा का रूप धारण कर लिया। इस भीड़ में ग्वालियर और मुरैना के आसपास के लोगों ने भी एक दिन पहले पंचकूला और सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा में पहुंचना शुरू कर दिया था। इसकी पुख्ता जानकारी स्वदेश को प्राप्त हुई है। सूत्रों की माने तो हिंसा के बाद बड़ी संख्या घायल हुए हैं उनमें यहां के लोग भी अस्पताल में भर्ती हुए हैं।

डेरा से मिले निर्देश के बाद पहुंचे थे पंचकूला

स्वदेश को जानकारी मिली है कि पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय में डेरा प्रमुख राम रहीम की पेशी होने की सूचना पर ग्वालियर और मुरेना के समर्थकों को सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा से पंचकूला पहुंचने के निर्देश के बाद एक दिन पहले की बड़ी संख्या में ट्रेन द्वारा लोग शुक्रवार की सुबह पंचकूला पहुंचे थे।

नहीं हो पा रहा संपर्क

पंचकूला में समर्थकों द्वारा की हिंसा के बाद पुलिस द्वारा कर्फ्यू लगाने के बाद स्थिति और भी ज्यादा गंभीर हो गई है। यहां से जो लोग पंचकूला गए हैं। उनके परिजनों का उनसे कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है। मोबाइल भी नहीं लग पा रहे हैं। बताया यह भी जाता है कि हिंंसा के बाद एक विशेष समुदाय के लोग अपने लोगों की स्थिति जानने के लिए विभिन्न साधनों से पंचकूला के लिए रवाना हो रहे हैं।

Updated : 2017-08-26T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top