Top
Home > Archived > अब कैंसर पीड़ितों को शहर में ही मिलेगा बेहतर इलाज

अब कैंसर पीड़ितों को शहर में ही मिलेगा बेहतर इलाज

अब कैंसर पीड़ितों को शहर में ही मिलेगा बेहतर इलाज


दिल्ली-मुम्बई की तर्ज पर जयारोग्य में बनेगी टर्सरी कैंसर केयर यूनिट

ग्वालियर, न.सं.। ग्वालियर व चम्बल अंचल के कैंसर पीड़ित मरीजों को इलाज के लिए अब दिल्ली व मुम्बई जैसे बड़े शहरों में नहीं भटकना पड़ेगा। आने वाले समय में कैंसर पीड़ितों को ग्वालियर शहर में ही बेहतर उपचार मिलेगा। इसके लिए केन्द्र व राज्य सरकार के सहयोग से जयारोग्य अस्पताल में दिल्ली-मुम्बई की तर्ज पर टर्सरी कैंसर केयर यूनिट स्थापित की जाएगी।
जानकारी के अनुसार जयारोग्य अस्पताल में टर्सरी कैंसर केयर यूनिट स्थापित करने के लिए केन्द्र सरकार ने 18.92 करोड़ की राशि स्वीकृत की है। इसके अलावा इस यूनिट की स्थापना के लिए राज्य सरकार भी 40 प्रतिशत राशि देगी। इसके लिए भूमि पूजन संभवत: अगले माह हो सकता है। जयारोग्य अंकोलॉजी के विभागाध्यक्ष डॉ. अक्षय निगम ने बताया कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के महानिदेशक राजीव प्रसाद एवं एम्स के कैंसर डायरेक्टर डॉ. जी.के. रथ के साथ विगत बुधवार को दिल्ली निर्माण भवन में बैठक हुई, जिसमें डीएमई डॉ. उल्का श्रीवास्तव, प्रभारी डीन डॉ. अचल गुप्ता एवं वह खुद (डॉ. अक्षय निगम) मौजूद थे। बैठक में डॉ. निगम ने वर्तमान में जयारोग्य अस्पताल के कैंसर विभाग में दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी देते हुए बताया कि जयारोग्य अस्पताल में अंचल भर से कैंसर के मरीज उपचार के लिए आते हैं, लेकिन स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर न होने के कारण मरीजों को दिल्ली व मुम्बई जाना पड़ता है। इस पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के महानिदेशक ने जयारोग्य अस्पताल में टर्सरी कैंसर केयर यूनिट स्थापित कराने के लिए 18 करोड़ 92 लाख रुपए का बजट रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया के माध्यम से मध्यप्रदेश शासन को जारी करा दिया है। इसके साथ ही बैठक में डीएमई को यह निर्देश भी दिए गए कि म.प्र. शासन द्वारा दी जाने वाली 40 प्रतिशत राशि भी जल्द से जल्द जारी की जाए। डॉ. निगम ने बताया कि टर्सरी कैंसर केयर यूनिट भवन निर्माण के लिए पीआईक्यू द्वारा डीपीआर भी तैयार कर ली गई है। भवन के निर्माण में 2.17 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इस भवन का निर्माण जयारोग्य अस्पताल परिसर में स्थित ट्रॉमा सेन्टर के पीछे किया जाएगा, जिसका भूमि पूजन संभवत: अगले माह हो सकता है। उन्होंने बताया कि इस यूनिट को जल्द से जल्द तैयार कर शुरू करने के नर्देश बैठक में दिए गए हैं।

यह होंगे अत्याधुनिक उपकरण

टर्सरी कैंसर केयर यूनिट में लाइनर एक्सेलेटर मशीन लगाई जाएगी, जिसमें कैंसर के मरीजों की बेहतर शिकाई होगी।

हाई कैपेसिटी सीटी सिम्यूलेटर मशीन से मरीजों के आंतरिक अंगों का परीक्षा किया जा सकेगा। इसके साथ ही इस मशीन से यह भी देखा जा सकेगा कि मरीज के किस हिस्से में शिकाई होना है।

ट्रीटमेंट प्लानिंग सिस्टम इस उपकरण से कैंसर रोगी को शिकाई के दौरान दिए जाने वाले डोज को कैलकूलेट किया जाएगा।

पैट सीटी स्कैन मशीन से कैंसर मरीज की एमआरआई जैसी जांच की जाएगी, लेकिन यह जांच एमआरआई से भी ज्यादा आधुनिक होगी और इसमें मरीज की बीमारी बहुत आसानी से दिखेगी।

इनका कहना है

‘केन्द्र शासन द्वारा जयारोग्य अस्पताल में टर्सरी कैंसर केयर यूनिट स्थापित कराने के लिए म.प्र. शासन को राशि स्वीकृत की गई है, लेकिन यह राशि शासन के किस खाते में पहुंची है। इसकी जानकारी भोपाल से मिलेगी। इसके बाद ही इस यूनिट का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।’

डॉ. अक्षय निगम
विभागाध्यक्ष, अंकोलॉजी विभाग
जयारोग्य अस्पताल ग्वालियर

Updated : 2017-08-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top