Top
Home > Archived > केजीएमयू ट्रामा अग्निकांड : 56 लाख का नुकसान, पांच का निलम्बन

केजीएमयू ट्रामा अग्निकांड : 56 लाख का नुकसान, पांच का निलम्बन

केजीएमयू ट्रामा अग्निकांड : 56 लाख का नुकसान, पांच का निलम्बन

लखनऊ। ट्रामा सेंटर में भीषण अग्निकांड के एक माह बाद आई शासन की रिर्पोट के आधार पर केजीएमयू प्रशासन ने पांच लोेगों का निलम्बन कर दिया पर शुक्रवार सुबह तक कमिश्नर कार्यालय से प्रशासनिक अधिकारियों को रिर्पोट की कापी नहीं मिली है।

15 जुलाई को केजीएमयू के ट्रामा सेंटर के द्वितीय तल पर फ्रिज में शार्ट सर्किट से आग लगने से कुल 56 लाख का नुकसान हो गया था जिसमें 39 लाख की दवाएं, दो लाख की आक्सीजन पाइप लाइन, 14 लाख का एयर कंडीशन और एक लाख का अतिरिक्त नुकसान हुआ। इसके साथ ही अग्निकांड के दौरान अफरातफरी में इलाज न मिलने से 15 मरीजों की मौत हो गई थी। इसी बीच 400 से अधिक मरीजों को ट्रॉमा सेंटर से बाहर शिफ्ट कराया गया। पूरे घटना के एक माह के बाद शासन स्तर से कमिश्नर अनिल गर्ग की एक रिर्पोट आई और उसके आधार पर केजीएमयू प्रशासन ने पांच लोगों अधिशासी अभियंता रामविलास, अधिशासी अभियंता दिनेश राज, एई एसपी सिंह, जेई यूसी यादव और फार्मासिस्ट प्रमोद पाण्डेय का निलम्बन कर दिया गया।

इसके पूर्व में विद्युत सुरक्षा निदेशालय की रिर्पोट आई थी, जिसमें विद्युत शार्ट सर्किट की वजह से आग लगना बताया गया था और जांच में इलेक्ट्रिकल विभाग को अग्निकांड का दोषी माना गया। केजीएमयू के जनसम्पर्क अधिकारी पंकज सिंह ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि गुरुवार की देर रात्रि तक कमिश्नर कार्यालय से रिर्पोट केजीएमयू प्रशासन को नहीं मिली थी। शुक्रवार को कमिश्नर के जांच रिर्पोट का इंतजार रहेगा।

Updated : 2017-08-18T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top