Home > Archived > पारा लुढ़का पर उमस बढ़ी

पारा लुढ़का पर उमस बढ़ी

पारा लुढ़का पर उमस बढ़ी
X

ग्वालियर| नौतपा के सातवे और मई के अंतिम दिन बुधवार को तेज आंधी के साथ हुई जोरदार बारिश के बाद जून के पहले दिन गुरुवार को तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस की कमी जरूर दर्ज की गई, लेकिन वातावरण में उमस बढ़ जाने से गर्मी का असर बरकरार रहा। मौसम विभाग ने ग्वालियर व चम्बल अंचल में अगले 24 घण्टे के दौरान एक बार फिर हल्की बारिश की संभावना जताई है।

बुधवार को मध्यान्ह में हुई बारिश के बाद गुरुवार को भी सुबह घने बादल घुमड़ते देखे गए, लेकिन चंद समय में ही बादल बिखर गए और धूप निकल आई। शाम होते-होते आसमान लगभग साफ हो गया। इस दौरान हवाओं की गति मंद रही, लेकिन वातावरण में उमस बढ़ जाने से दिन भर लोग गर्मी से परेशान नजर आए। मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल द्वारा जारी दैनिक रिपोर्ट में अगले 24 घण्टे के दौरान ग्वालियर एवं चम्बल अंचल में गरज-चमक के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश तो कहीं-कहीं ओलावृष्टि की संभावना जताई गई है, लेकिन स्थानीय मौसम विज्ञानी सुनील गोधा के अनुसार शुक्रवार को बादल अवश्यक छाए रहेंगे, लेकिन बारिश की संभावना कम है।

स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार बुधवार की तुलना में गुरुवार को अधिकतम तापमान 5.1 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 36.4 डिग्री सेल्सियस पर ही सिमट गया, जो औसत से 6.2 डिग्री सेल्सियस कम है। न्यूनतम तापमान भी 4.0 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 22.4 डिग्री सेल्सियस पर ही ठहर गया, जो औसत से 5.0 डिग्री सेल्सियस कम है, जबकि हवा में नमी सुबह 81 और शाम को 41 फीसदी दर्ज की गई, जो सामान्य से 46 व 21 फीसदी अधिक है।

नौतपा के सातवे और मई के अंतिम दिन बुधवार को तेज आंधी के साथ हुई जोरदार बारिश के बाद जून के पहले दिन गुरुवार को तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस की कमी जरूर दर्ज की गई, लेकिन वातावरण में उमस बढ़ जाने से गर्मी का असर बरकरार रहा। मौसम विभाग ने ग्वालियर व चम्बल अंचल में अगले 24 घण्टे के दौरान एक बार फिर हल्की बारिश की संभावना जताई है।

बुधवार को मध्यान्ह में हुई बारिश के बाद गुरुवार को भी सुबह घने बादल घुमड़ते देखे गए, लेकिन चंद समय में ही बादल बिखर गए और धूप निकल आई। शाम होते-होते आसमान लगभग साफ हो गया। इस दौरान हवाओं की गति मंद रही, लेकिन वातावरण में उमस बढ़ जाने से दिन भर लोग गर्मी से परेशान नजर आए। मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल द्वारा जारी दैनिक रिपोर्ट में अगले 24 घण्टे के दौरान ग्वालियर एवं चम्बल अंचल में गरज-चमक के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश तो कहीं-कहीं ओलावृष्टि की संभावना जताई गई है, लेकिन स्थानीय मौसम विज्ञानी सुनील गोधा के अनुसार शुक्रवार को बादल अवश्यक छाए रहेंगे, लेकिन बारिश की संभावना कम है।

स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार बुधवार की तुलना में गुरुवार को अधिकतम तापमान 5.1 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 36.4 डिग्री सेल्सियस पर ही सिमट गया, जो औसत से 6.2 डिग्री सेल्सियस कम है। न्यूनतम तापमान भी 4.0 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 22.4 डिग्री सेल्सियस पर ही ठहर गया, जो औसत से 5.0 डिग्री सेल्सियस कम है, जबकि हवा में नमी सुबह 81 और शाम को 41 फीसदी दर्ज की गई, जो सामान्य से 46 व 21 फीसदी अधिक है।

Updated : 2017-06-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top