Top
Home > Archived > हनीट्रैप मामले में महिला ने स्वीकारा मंत्री, सांसद सहित कईयों को ब्लैकमेल करने का जुर्म

हनीट्रैप मामले में महिला ने स्वीकारा मंत्री, सांसद सहित कईयों को ब्लैकमेल करने का जुर्म

हनीट्रैप मामले में महिला ने स्वीकारा मंत्री, सांसद सहित कईयों को ब्लैकमेल करने का जुर्म
X


नई दिल्ली। भाजपा सांसद केसी पटेल को हनीट्रैप में फंसाने और ब्लैमेल करने की आरोपी महिला को दिल्ली की एक अदालत ने चार दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस ने बताया कि विशेष न्यायाधीश हिमानी मल्होत्रा ने शातिर महिला को 12 मई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। ज्ञात हो कि एक दिन की न्यायिक हिरासत समाप्त होने पर महिला को सोमवार के दिन अदालत के समक्ष पेश किया गया था।

इससे पहले गिरफ्तारी के बाद महिला को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भी रखा गया था। सुनवाई के दौरान अभियोजक अतुल श्रीवास्तव ने कहा कि उन्हें महिला की आवाज का नमूना लेने के लिए उसकी सहमति की जरूरत है। ज्ञात हो कि इस महिला को दिल्ली पुलिस ने दो मई को उसके गाजियाबाद स्थित आवास से गिरफ्तार किया था।

उस पर गुजरात के वलसाड से सांसद के सी पटेल को दुष्कर्म के झूठे मामलों में फंसाकर ब्लैक मेलिंग किए जाने का आरोप है। सांसद ने दावा किया है कि आरोपी महिला ने उन्हें कोई नशीला पदार्थ दिया और उसके बाद उनके अश्लील वीडियो बनाये तथा तस्वीरें खींचीं। महिला ने उन्हें किसी काम से गाजियाबाद बुलाया था और उन्हें सॉफ्टड्रिंक पीने को दिया जिसमें कोई नशीला पदार्थ मिला हुआ था। सांसद ने आरोप लगाया था कि महिला ने धमकी दी थी कि अगर वह पांच करोड़ रपये नहीं देंगे तो उनके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराएगी।
हनीट्रेप मामले में पकड़ी गई महिला की आवाज का नमूना जल्द ही दिल्ली पुलिस लेगी। इसके लिए संबधित कोर्ट में महिला ने अपनी सहमति प्रदान कर दी है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि सांसद केसी पटेल के अलावा इस महिला ने राज्यसभा के कांग्रेस सांसद तथा उत्तराखंड के एक मंत्री के खिलाफ भी दुष्कर्म के सनसनीखेज आरोप लगाकर उनसे उगाही की थी और पुलिस के पास ब्लैकमेंलिंग किए जाने के पक्के सबूत मौजूद है।

दरअसल पुलिस पहले से मौजूद बातचीत की सीडी से उसके आवाज का नमूना हासिल कर दोनों का मिलान करना चाहती है। ताकि उसके खिलाफ ठोस सबूत हासिल किया जा सके। दिल्ली पुलिस का कहना है कि यदि आगे की जांच में जरूरत महसूस हुई तो दोबारा से महिला को पुलिस रिमांड पर लिया जा सकता है।

हनी ट्रैप मामले में महिला आरोपी समेत उसके अन्य सहयोगियों की तलाश में दिल्ली पुलिस की विभिन्न टीमें गहन छापेमारी में जुटी हुई है। सूत्रों ने बताया कि इस रैकेट का तार दिल्ली से यूपी तक फैला हुआ है और आरोपी महिला ने भी पूछताछ में हनीट्रैप गैंग के मास्टरमाइंड समेत अन्य आरोपियों के नाम का खुलासा किया है। जिसकी तलाश नें दिल्ली पुलिस यूपी के कई इलाकों में छापेमारी कर रही है। आरोपी महिला ने पुलिस को बताया है कि वह रसूखदार नेताओं समेत कई सांसदों और नेताओं की अश्लील सीडी बनाकर और उन पर दुष्कर्म तथा छेड़छाड़ का झूठा मुकदमा दर्ज करवा चुकी है और इस एवज में उसने लाखों -करोड़ो बनाए है। उसका सपना था कि इस तरह की कमाई से जल्द धनवान बना जा सकता है जबकि उसकी यह भी इच्छा थी कि वह जल्द ही अपना भविष्य राजनीतिक क्षेत्र में तलाश करे, इसके लिए भी वह नेताओं को अपनी जाल में फंसाना चाह रहीं थी।

उसने यह भी बताया कि वह अपने गांव में प्रधान और सरपंच का चुनाव लड़ चुकी है जबकि बड़ौत के रहने वाले मित्रपाल और अजय नामक आदि व्यक्ति के साथ मिलकर वह इस तरह का गोरखधंधा करती थी। देववंध के रहने वाले मसूद मदनी नामक नेता पर भी इस गैंग ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर उनसे वसूली की थी। दिल्ली पुलिस का कहना है कि मसूद मदनी को शिकार बनाने वाली इस गैंग की एक महिला ने अब आरोपों से पलट गई है जबकि यूपी पुलिस की जांच में मामला झूठा पाया गया। जिसके बाद आरोपी महिला के खिलाफ झूठा केस दर्ज कराने का मुकदमा यूपी में दर्ज हुआ है। चूंकि यह मामला यूपी से जुड़ा है इस वजह से इस मामले की जांच यूपी पुलिस के जिम्मे है ।

Updated : 2017-05-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top