Home > Archived > मुख्यमंत्री कल करेंगे आगरा व अलीगढ़ मण्डल की समीक्षा

मुख्यमंत्री कल करेंगे आगरा व अलीगढ़ मण्डल की समीक्षा

मथुरा। मुख्यमंत्री की 7 मई को आगरा में प्रस्तावित समीक्षा बैठक को लेकर जिलाधिकारी ने अधीनस्थों को सभी बिन्दुओं पर तैयारी करने के निर्देश दिये।
कलक्टेऊट सभा कक्ष में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में डीएम अरविन्द मल्लपा बंगारी ने सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता को निर्देश दिये कि नमामि गंगे मिशन के अंगर्तत विश्रामघाट से होते हुए स्वामीघाट तक यमुना में जमा सिल्ट एवं कचरा कूडा आदि की सफाई हेतु स्कीमर द्वारा प्रतिदिन 3 से 4 घंटे सफाई का कार्य कराया जाये। जिलाधिकारी को बताया गया कि नगर पालिका द्वारा 21 मुख्य नालों में से 9 नालों की सफाई का कार्य पूर्ण करा दिया गया है और 3 नालों की सफाई का कार्य प्रगति पर है तथा शेष 9 नालों की सफाई 15 जून तक पूर्ण कर लिया जायेगा तथा नगर पालिका परिषद, मथुरा के मुख्य पम्पिंग स्टेशनों धौली प्याऊ, नया बस स्टैण्ड एवं पुराना बस स्टैण्ड का संचालन जल निगम द्वारा किया जा रहा।

उद्यान विभाग के अधिकारी ने उद्यान विभाग द्वारा फल, सब्जी, हरित पट्टी की प्रगति की रिपोर्ट प्रस्तुत की राष्ट्रीय बागवानी एवं राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत 114.20 हैक्टेरयर जमीन पर लगाने का प्रस्ताव है। भारत सरकार एवं प्रदेश की महत्वपूर्ण योजना स्वच्छ भारत मिशन के अतंर्गत डीएम ने जिला पंचायतराज अधिकारी से अपने विभाग में सफाई की जानकारी ली। उन्होंने जिलाधिकारी को सफाई व्यवस्था का विस्तृत ब्यौरा देते हुये बताया कि अधिकारियों द्वारा समय-समय पर किये गये आकस्मिक सत्यापन, निरीक्षण के समय अनुपस्थित पाये जाने अथवा अनुकूल कार्य न पाये जाने पर 12 सफाई कर्मियों को निलम्बित कर दिया गया है और 10 के विरूद्ध वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस निर्गत करा दिया गया है।

जिलाधिकारी ने शौचालय निर्माण एवं खुले में शौच समाप्त करने की व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की, जिसमें एसबीएम द्वारा व्यक्तिगत शौचालय हेतु प्राप्त आवेदनों की जांच करने के उपरांत 307 आवेदकों को 4 हजार रू0 प्रति शौचालय की दर से 12.28 लाख रू0 केन्द्रांश एवं राज्यांश ट्रान्सफर कर दिया गया है। नगर पालिका मथुरा पूर्व में 5 कम्यूनिटी एवं 15 पब्लिक शौचालय बनाये गये हैं तथा पीडब्ल्यूडी विभाग का ई-टेण्डर के बजाय मेनुअल टेण्डरिंग की जा रही है तथा लोक निर्माण विभाग में केवल ई-टेण्डर के माध्यम से ही टेण्डरिंग की जायेगी।

बैठक में जिलाधिकारी द्वारा विभागीय अधिकारियों से उनके यहां चल रहे विकास कार्यों की जानकारी ली गई और मुख्यमंत्री की समीक्षा के लिए फैक्ट औश्र फिगर्स की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

बैठक की कार्यचाही प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी उमेश कुमार त्यागी ने की। बैठक में अपर जिलाधिकारी (वि0रा0) रवीन्द्र कुमार, परियोजना ग्राम्य विकास अधिकारी सचिन, उप कृषि निदेशक डा0 राकेश बाबू सहित सभी विकास कार्यों से संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Updated : 2017-05-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top