Top
Home > Archived > दिसंबर 2018 तक हर घर को 24x7 बिजली देने पर यूपी-बिहार सहित तमाम राज्य सहमत : पीयूष गोयल

दिसंबर 2018 तक हर घर को 24x7 बिजली देने पर यूपी-बिहार सहित तमाम राज्य सहमत : पीयूष गोयल

दिसंबर 2018 तक हर घर को 24x7 बिजली देने पर यूपी-बिहार सहित तमाम राज्य सहमत : पीयूष गोयल
X

नई दिल्ली। केंद्रीय विद्युत, कोयला तथा खान राज्‍यमंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि केंद्र के दिसंबर, 2018 तक देश के हर घर को 24x7 सस्ती और गुणवत्ता परक बिजली मुहैया कराने के लक्ष्य को हासिल करने के प्रति उत्तर प्रदेश और बिहार सहित यहां उपस्थित सभी राज्यों व संघ शासित प्रदेशों ने आम सहमति जताई है। उन्होंने बताया कि राज्य के विद्युत मंत्रियों का अगला सम्मेलन राजगीर (बिहार) में होगा।

पीयूष गोयल ने गुरुवार को दो दिवसीय राज्य विद्युत मंत्रियों के सम्मेलन के समापन पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि यह आज तक सबसे सफल, उत्पादक और परिणाम उन्मुख राज्य विद्युत मंत्रियों के सम्मेलन में से एक रहा है। उन्होंने कहा कि विरासत में मिली समस्याओं से हम घबराते नहीं हैं, उनको स्वीकार करते हुए हम सकारात्मक रूप से आगे बढ़ते हैं। उन्होंने कहा कि कोयले की कमी इतिहास बन चुकी है| उसकी कीमतें नियंत्रित हैं और क्वालिटी में भी सुधार है।

गोयल ने बताया कि बिजली उत्पादन में गंदे पानी को साफ कर के उपयोग किया जायेगा, जिससे स्वच्छ जल की उपलब्धता बढ़ेगी, नदियां शुद्ध रहेंगी व प्रदूषण घटेगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने राज्यों के बिजली मंत्रियों की बैठक में पीने के पानी की किल्लत को देखते हुए बिजली के उत्पादन में सीवर के पानी का इस्तेमाल करने का प्रस्ताव रखा जिस पर व्यापक सहमति बनी।

गोयल ने बताया कि सम्मेलन के दौरान बिजली संयंत्रों के उपयोग के लिए बिजली संयंत्रों से अपशिष्ट जल का अनिवार्य रीसाइक्लिंग पीने के लिए उपयोग किया जाना, सूखे ऐश के बेहतर प्रबंधन को इसके उपयोग के लिए बिजली संयंत्रों की नजदीक में सीमेंट संयंत्रों को स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने जैसे कुछ नए मुद्दों पर भी चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों ने सामूहिक रूप से बिजली और खनन क्षेत्रों की समस्याओं पर काम करने का निर्णय लिया।

गोयल ने कहा कि राज्यों ने ग्रिड एकीकरण, ग्रीन एनर्जी कॉरिडोर को बढ़ावा देने, सिंचाई के लिए ऊर्जा कुशल सौर पंप आदि के माध्यम से अक्षय ऊर्जा को प्रोत्साहित करने का निर्णय लिया है। उद्योगों को निर्बाध शक्ति सुनिश्चित करने पर बल दिया ताकि क्षेत्र में विदेशी निवेश को आकर्षित किया जा सके। इसके अलावा, प्रतिभागियों ने बेहतर ईंधन लिंकेज, पारदर्शी मूल्य की खोज के जरिए बिजली टैरिफ ढांचे के युक्तिकरण पर भी चर्चा की और उपभोक्ताओं को जल्द ही लाभान्वित करने की एक योजना के साथ आने का वायदा किया।

Updated : 2017-05-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top