Top
Home > Archived > केडी हॉस्पीटल में हुआ महिला का सफल ऑपरेशन

केडी हॉस्पीटल में हुआ महिला का सफल ऑपरेशन

एम्स के डाक्टरों ने इलाज से कर दिया था इंकार

मथुरा। केडी मेडिकल कालेज हास्पीटल एण्ड रिसर्च सेण्टर की महिला रोग विशेषज्ञ, विभागाध्यक्ष डा. हसना हना चौधरी और डा. प्रियंका माहेश्वरी ने दद्दी गढ़ी निवासी सीमा (46) पत्नी वीरपाल शर्मा की अण्डेदानी और बच्चेदानी का सफल आपरेशन कर उसे नई जिन्दगी दी। आपरेशन कोई तीन घण्टे चला। अब महिला पूरी तरह से स्वस्थ है।

छाता के ग्राम दद्दी गढ़ी निवासी सीमा पत्नी वीरपाल शर्मा लगभग तीन साल से पेट दर्द से परेशान थी। उसे उपचार के लिए दिल्ली के एम्स और आगरा के एक निजी चिकित्सालय में भी ले जाया गया। विभिन्न जांचों से पता चला कि उसके पेट में पानी और अण्डाशय में कैंसर है। सीमा के पेट की स्थिति को देखते हुए एम्स दिल्ली और आगरा के डाक्टरों ने आपरेशन करने से इंकार कर दिया। आखिर सीमा की इस स्थिति को देखते हुए वीरपाल उसे लेकर केडी हास्पीटल की महिला रोग विशेषज्ञ डा. प्रियंका माहेश्वरी से मिला।

डा. माहेश्वरी ने सीमा की नाजुक स्थिति को देखकर विभागाध्यक्ष प्रो. हसना हना चौधरी से परामर्श लिया। दोनों डाक्टरों के बीच परामर्श के बाद उसके आपरेशन का निर्णय लिया गया। डा. हसना हना चौधरी, डा. प्रियंका माहेश्वरी और निश्चेतना विशेषज्ञ डा. सोनी जसूजा की टीम ने 18 मई को लगभग तीन घण्टे के प्रयासों के बाद आपरेशन द्वारा महिला की बच्चेदानी और अण्डेदानी निकाली गई। आपरेशन के दौरान सीमा के पेट से लगभग आठ लीटर पानी भी निकला है। डा. एचएच चौधरी का कहना है कि सीमा के पेट की स्थिति को देखते हुए आपरेशन ही अंतिम विकल्प था। यदि उसका समय से आपरेशन नहीं किया जाता तो सीमा की जान भी जा सकती थी। सफल आपरेशन पर वीरपाल शर्मा ने केडी हास्पीटल की महिला चिकित्सकों का आभार माना है।

आरके एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल और कालेज की प्राचार्य डा. मंजुला बाई कोडागनोर ने महिला के सफल आपरेशन के लिए डाक्टरों की टीम को बधाई देते हुए उसकी उचित देखभाल के निर्देश दिए हैं।

Updated : 2017-05-27T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top