Top
Home > Archived > देश में वीआईपी की जगह इपीआई का महत्व बढ़े: मोदी

देश में वीआईपी की जगह इपीआई का महत्व बढ़े: मोदी

देश में वीआईपी की जगह इपीआई का महत्व बढ़े: मोदी
X

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 31वीं बार मन की बात की। उन्होंने देश को संबोधित करते हुए कहा, मन की बात में विविधताओं से भरी हुई जानकारियां मिलती हैं। मन की बात पर आये सुझाओं पर सरकार अध्ययन करती है। देश के हर कोने में शक्तियों का अम्बार पड़ा है।

मोदी ने कहा, मैं सबसे पहले तो अधिकतम सुझाव जो कि कर्मयोगियों के हैं, समाज के लिए कुछ न कुछ कर गुजरने वाले लोगों के हैं। मैं उनके प्रति आभार व्यक्त करता हूं। मोदी ने कहा, ये चीजें जब ध्यान में आई तो मुझे लगा कि ये सुझाव सामान्य नहीं हैं, ये अनुभव के निचोड़ से निकले हुए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, कई युवा कंफर्ट जोन में ही रहना चाहते हैं। लेकिन मैं गर्मियों की छुट्टी में जाने वाले युवाओं को तीन सुझाव देना चाहता हूं। पहला तो नई जगह घूमने जाएं, नए हुनर सीखें और बिना रिजर्वेशन की ट्रेन यात्रा करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीआईपी कल्चर के बारे में मन की बात में चर्चा करते हुए कहा, देश में वीआईपी की जगह इपीआई का महत्व बढ़े।

पीएम मोदी ने कहा, सरकारी निर्णय से लाल बत्ती का जाना वो तो एक व्यवस्था का हिस्सा है, लेकिन हमें इसे मन से भी प्रयत्नपूर्वक बाहर निकालना है। हम सब मिलकर जागरूक प्रयास करें तो ये मन से भी निकल सकता है।

Updated : 2017-04-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top