Top
Home > Archived > हड़ताल के दौरान 108 एम्बुलेंस स्टाफ की रहेगी वैकल्पिक व्यवस्था

हड़ताल के दौरान 108 एम्बुलेंस स्टाफ की रहेगी वैकल्पिक व्यवस्था

भोपाल। मध्यप्रदेश में संचालित 'दीनदयाल-108' एम्बुलेंस सेवा में कार्यरत कर्मचारी इन दिनों हड़ताल पर हैं। इस दौरान आम जनता को समय पर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा एम्बुलेंस वाहनों में स्टाफ की वैकल्पिक व्यवस्था की गयी है। गुरुवार को सायं पांच बजे तक कुल 606 एम्बुलेंस वाहनों में से लगभग 120 वाहन मरम्मत कार्य के लिये ऑफ रोड कर दिए गए हैं, जबकि शेष 486 एम्बुलेंस वाहनों में से 410 एम्बुलेंस वाहन वैकल्पिक व्यवस्था द्वारा क्रियाशील किये गये हैं। इसके अतिरिक्त 32 जिलों में 108 कॉल-सेंटर से एकीकृत किये गये 'जननी एक्सप्रेस' वाहनों द्वारा भी आपातकालीन स्थिति में पीड़ितों को परिवहन सुविधा उपलब्ध करवायी गयी है।
वैकल्पिक व्यवस्था द्वारा संचालित एम्बुलेंस-108 वाहनों से बुधवार, 26 अप्रैल को कुल 2630 पीड़ितों को एम्बुलेंस सेवा प्रदान की गयी है। गुरुवार, 27 अप्रैल को सायं पांच बजे तक 2071 पीड़ितों को एम्बुलेंस सेवा प्रदान की गयी है। फिलहाल वैकल्पिक व्यवस्था के माध्यम से 108 एम्बुलेंस की सेवाएं लोगों के लिए सतत जारी हैं।

सागर में दो एम्बुलेंस कर्मियों पर एफआईआर दर्ज

सागर जिले के बहेरिया स्थित 108 वाहन सेवा के ईएमटी जिब्रान खान और वाहन चालक कालीचरण चौरसिया के विरुद्ध कार्य में लापरवाही बरतने पर धारा-304 के अंतर्गत एफआईआर दर्ज की गयी है। जिला कलेक्टर विकास नरवाल के निर्देश पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सेनी द्वारा यह एफआईआर कैन्ट थाने में दर्ज करवायी गयी।

जानकारी के मुताबिक, 26 अप्रैल को सड़क दुर्घटना में घायल कमला बाई पत्नी रामप्रसाद निवासी ग्राम रजवास तहसील मालथौन की 108 एम्बुलेंस वाहन नहीं पहुंचने पर मृत्यु हो गयी थी। मृतका के अचानक मोटर-साइकिल से गिरकर घायल होने पर परिजनों ने 108 वाहन सेवा को फोन लगाया था। घटना-स्थल पर एम्बुलेंस वाहन नहीं पहुंची। इस पर परिजन अपने साधन से घायल महिला को जिला अस्पताल लेकर गये, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। प्रकरण में बहेरिया स्थित 108 वाहन सेवा के उक्त दोनों कर्मचारियों की लापरवाही हड़ताल पर रहने के कारण होना पायी गयी है। यहां यह उल्लेखनीय है कि प्रदेश में 108 एम्बुलेंस सेवा से संबंधित कर्मचारी कुछ स्थानों पर हड़ताल पर हैं। इस सेवा से संबद्ध कुल 481 एम्बुलेंस में से 410 कार्यशील हैं और अपने कार्यों का निर्वहन कर रही है।

दीनदयाल-108 आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा के कर्मचारियों की हड़ताल की स्थिति में आम जनता को समय पर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हो सकें, इसके लिये स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था की गयी है। किसी भी आपातकालीन परिस्थिति में एम्बुलेंस परिवहन की सुविधा के लिये आमजन 108 टोल-फ्री नम्बर पर कॉल कर 24x7 नि:शुल्क एम्बुलेंस सुविधा प्राप्त कर सकता है। उल्लेखनीय है कि हड़ताल के दौरान भी कुल 1783 पीड़ितों को 108 एम्बुलेंस सेवा प्रदान की गयी है।

Updated : 2017-04-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top