Top
Home > Archived > केडी हॉस्पिटल में महिला के घुटनों का सफल प्रत्यारोपण

केडी हॉस्पिटल में महिला के घुटनों का सफल प्रत्यारोपण

मथुरा। केडी मेडिकल कालेज हॉस्पिटल और रिसर्च सेंटर के हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. अमन गोयल ने 17 मार्च को कोसीकलां निवासी सुशीला अग्रवाल के दोनों घुटनों का सफल प्रत्यारोपण कर उनके चेहरे पर मुस्कान लौटा दी है।

कोसीकलां निवासी सुशीला अग्रवाल (63) पत्नी आरएस अग्रवाल लगभग 14 साल से अपने पैरों से लाचार थीं। नवम्बर 2012 में उन्होंने एशियन हॉस्पिटल फरीदाबाद में चोट के चलते अपने टखने का ऑपरेशन कराया लेकिन वह अपने पैरों पर खड़ी नहीं हो सकीं। लगभग साढ़े चार साल से वह बिस्तर में पड़े-पड़े सिर्फ यही सोचती रहीं कि क्या वह फिर कभी नहीं चल सकेंगी। निराशा के भंवरजाल में फंसी सुशीला को पता चला कि केडी हॉस्पिटल में हड्डी पीडि़तों का बेहतरीन इलाज होता है, इस उम्मीद से वह 16 मार्च को हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. अमन गोयल से मिलीं।

डा. गोयल, सुशीला अग्रवाल का एक्सरा और अन्य जांचें कराने के बाद इस निष्कर्ष पहुंचे कि वह घुटनों के प्रत्यारोपण से ही पुन: चल सकेंगी। 17 मार्च को डा. अमन गोयल, डा. हर्षित जैन, निश्चेतना विशेषज्ञद्वय डा. मंजू सक्सेना, डा. सोनी जसूजा, टेक्नीशियन पवन, घनश्याम और राजेश की टीम द्वारा कोई दो घण्टे के प्रयासों के बाद सुशीला के दोनों घुटनों का प्रत्यारोपण किया गया। अब सुशीला न केवल अपने आप खड़ी हो जाती हैं बल्कि कुछ कदम चलने भी लगी हैं। सुशीला के पति आरएस अग्रवाल का कहना है कि वह केडी हॉस्पिटल के डाक्टरों और यहां की सेवा-सुविधाओं से न केवल संतुष्ट हैं बल्कि इसके लिए डाक्टरों को बधाई भी देते हैं। श्री अग्रवाल कहते हैं कि वह और उनकी पत्नी नाउम्मीद हो गये थे लेकिन घुटनों के सफल प्रत्यारोपण से अब उम्मीद जिन्दा हो गई है। मुझे खुशी है कि अब सुशीला अपने आप चल सकेंगी।

आरके एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल, कालेज की प्राचार्य डा. मंजुला बाई केएच, विभागाध्यक्ष हड्डी रोग डा. डीआर गलफट एवं डा. बीपी सिंह भदौरिया ने घुटनों के सफल प्रत्यारोपण के लिए डाक्टरों की टीम को बधाई दी।

Updated : 2017-03-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top