Top
Home > Archived > केडी हास्पिटल के विशेषज्ञ चिकित्सकों ने बचाई जच्चा-बच्चा की जान

केडी हास्पिटल के विशेषज्ञ चिकित्सकों ने बचाई जच्चा-बच्चा की जान

मथुरा। प्रेग्नेंसी के दौरान हर महिला चाहती है कि उसके नार्मल डिलीवरी हो लेकिन कभी-कभी महिला की चिन्ताजनक स्थिति को देखते हुए सीजेरियन ऑपरेशन जरूरी हो जाता है। चौमुंहा (मथुरा) निवासी माधुरी (21) पत्नी यतेन्द्र की चिन्ताजनक स्थिति को देखते हुए 15 मार्च, बुधवार सुबह लगभग चार बजे केडी मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के एसोसिएट प्रोफेसर डा. मनजीत सिंह (महिला शल्य चिकित्सक) और डा. प्रियंका माहेश्वरी ने लगभग आधा घण्टे के प्रयास के बाद सफल ऑपरेशन कर जच्चा और बच्चों की जान बचाई। माधुरी और उसके जुड़वां बच्चे अब खतरे से बाहर हैं।

जानकारी के अनुसार चौमुंहा (मथुरा) निवासी माधुरी (21) पत्नी यतेन्द्र 10 मार्च को पेट दर्द से परेशान केडी मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के एसोसिएट प्रोफेसर डा. मनजीत सिंह से मिली। माधुरी की विभिन्न जांचें कराने के बाद पता चला कि उसके पेट में जुड़वां बच्चे हैं और उनकी उम्र सात माह छह दिन है। उसका हीमोग्लोबिन सात ग्राम होने के साथ ही वह पीलिया (ज्वाइंडिस) से पीडि़त है तथा पीलिया की जांच सात मिलीग्राम थी। माधुरी ने दो साल पहले भी बड़े ऑपरेशन से ही एक बच्चे को जन्म दिया था। माधुरी की चिन्ताजनक स्थिति को देखते हुए डा. मनजीत सिंह, डा. प्रियंका माहेश्वरी और निश्चेतना विशेषज्ञ डा. सोनी जसूजा की टीम ने 15 मार्च को सुबह सवा चार बजे ऑपरेशन का निर्णय लिया। ऑपरेशन कोई आधा घण्टे चला। सुबह 4.40 बजे माधुरी को बेटा तथा 4.43 बजे बेटी पैदा हुई।

इस ऑपरेशन पर डा. मनजीत सिंह का कहना है कि माधुरी की स्थिति काफी चिन्ताजनक थी। उसकी बच्चेदानी फटने का अंदेशा था क्योंकि इससे पहले भी उसे ऑपरेशन से ही बच्चा हुआ था। ऑपरेशन के बाद जच्चा और दोनों बच्चे ठीक हैं। माधुरी के नि:शुल्क सफल ऑपरेशन पर उसके परिजनों ने केडी हास्पिटल के डाक्टरों का आभार मानते हुए कहा कि हम लोग परेशान थे। अच्छा हुआ कि हम समय से केडी हास्पिटल आ गये।

आरके एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल और केडी मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर की प्राचार्य डा. मंजुला बाई केएच ने माधुरी के सफल ऑपरेशन के लिए डाक्टरों की टीम को बधाई देते हुए जच्चा और बच्चों की उचित देखभाल के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि केडी मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में मरीजों की अधिकांश जांचें और ऑपरेशन नि:शुल्क किए जा रहे हैं। इतना ही नहीं मरीज के भोजन आदि की व्यवस्था भी पूरी तरह से नि:शुल्क है।

Updated : 2017-03-16T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top