Home > Archived > मथुरा-कानपुर के बीच विद्युतीकरण शीघ्र होगा शुरू:जीएम

मथुरा-कानपुर के बीच विद्युतीकरण शीघ्र होगा शुरू:जीएम

बरेली-रामगंगा के बीच में रेलगाड़ी दौड़ाने की है तैयारी
मथुरा
पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक राजीव मिश्र ने बताया कि मथुरा से कानपुर के अनवरगंज स्टेशनों के बीच के विद्युतीकरण का काम जल्दी ही शुरू किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि मथुरा से अनवरगंज के बीच के विद्युतीकरण का कार्य मथुरा-कासगंज और कासगज अनवरंगज के बीच के प्रखण्डों में अलग-अलग किया जाएगा। यह काम इरकान द्वारा जल्दी ही कराया जाएगा। पत्रकारों के एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि रेल आरक्षण में दलालों की भूमिका को समाप्त करने के लिए मथुरा छावनी स्टेशन पर सीसीटीवी लगाने का काम इस साल पूरा हो जाएगा। वर्तमान में यह कार्य रेल टेल कारपोरेशन द्वारा किया जा रहा है।
उनसे जब यात्री सुविधाओं में वृद्धि के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि हर प्लेटफार्म पर शौचालय बनाये जा रहे हैं। प्लेटफार्मों पर स्टील की बेंचे लगाई गई है। खानपान की सेवाओं को बेहतर करने के साथ-साथ वेटिंग रूम का और बेहतर रखरखाव तथा पीने के पानी की बेहतर व्यस्था सुनिश्चित की गई है।
उनका कहना था कि बरेली और रामगंगा के बीच अमान परिवर्तन का काम पूरा कर लिया गया है। सीआरएस ने भी इस ट्रैक पर रेलगाड़ी चलाने के लिए हरी झंडी दे दी है। चुनाव आचार संहिता लगी होने के कारण निर्वाचन आयोग से इस मार्ग पर रेल चलाने की अनुमति मांगी गई है। यदि अनुमति जल्दी मिल जाती है तो रेल उसके बाद ही चला दी जाएगी अन्यथा 11 मार्च के बाद चलाई जाएगी।
उनसे जब यह पूछा गया कि हाल की रेल दुर्घटनाओं के पीछे तोडफ़ोड़ के प्रयासों को देखते हुए उनके जोन में क्या अतिरिक्त व्यवस्थाएं की गई हैं तो उन्होंने बताया कि रेलवे और स्थानीय पुलिस प्रशासन के बीच में समन्वय स्थापित कर तोडफ़ोड़ के प्रयासों को विफल किया जा रहा है। उनका कहना था कि उनके जोन के प्रयासों का ही परिणाम है कि उनके जोन में इस वर्ष किसी प्रकार की दुर्घटना नही हुई है।
श्री मिश्र ने कहा कि जहां तक सुरक्षा का सवाल है जीआरपी और आरपीएफ मिलकर इस कार्य को बखूबी कर रही हैं तथा जहां पर सुरक्षा से खिलवाड़ करने का प्रयास होता है ऐसे तत्वों की गिरफ्तारी भी होती है। उन्होंने इस दिशा में इज्जतनगर के पास के मंदना स्टेशन के पास रेल पटरी पर पत्थर रखने, फिश प्लेट हटाने के प्रयास की घटना का जिक्र किया और कहा कि इसकी जांच की जा रही है जांच पूरी होने के बाद ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
महाप्रबंधक ने बताया कि उनका यह दोैरा रेल की संरक्षा और सुरक्षा को बेहतर बनाने के लिए ही है जिसमेें रेलवे ट्रैक से लेकर सिग्नल तक को बारीकी से देखा जा रहा है तथा जहां कमी पाई जा रही है उसमें सुधार के निर्देश दिए जा रहे हैं कमियों को देखने के लिए ही उनके साथ विभिन्न विभागों की टीम चल रही है।
मथुरा बरेली के बीच किसी मेल ट्रेन चलाने की संभावना पर उन्होंने कहा कि नई रेलगाडिय़ों पर रेलवे बोर्ड निर्णय लेता है वैसे वर्तमान में चुनाव की आचार संहिता लगी होने के कारण इस संबंध में वे कुछ न कह सकेंगे। उनका यह भी कहना था हर साल बहुत सी गाडिय़ां चलाई जाती हैं पर अब इन्फ्रास्ट्रक्चर को और बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है।
उनसे जब यह पूछा गया कि तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए क्या लखनऊ और मथुरा के बीच चलने वाली छपरा एक्सप्रेस और जयपुर एक्सप्रेस के समय या दिवस में कोई परिवर्तन किया जाएगा तो उन्होने कहा कि यदि इसके बारे में उन्हें लिखकर दे दिया जाए तो वे इसकी संभावना पर विचार कर लेंगे।

Updated : 2017-02-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top