Top
Home > Archived > दिन में ठगी रात में चोरी करने वाले गैंग को जेल

दिन में ठगी रात में चोरी करने वाले गैंग को जेल

आगरा| छत्ता क्षेत्र में होने वाली चोरी और ठगी की वारदातों को रोकने के लिए इंस्पेक्टर ने सादे वेश में एक टीम लगाई। पुलिस ने तीन शातिर युवकों को पकड़ा। उनसे हुई पूछताछ में खुलासा हुआ कि वे दिन में ठगी और रात में चोरी करते हैं। उनके द्वारा ठगी करने का तरीका सुनकर अधिकारी भी हैरान रह गये। कुछ दिन पहले हुई चोरी का खुलासा भी पुलिस ने कर दिया है। पिछले दिनों छत्ता थाना क्षेत्र में ठगी और चोरी की वारदातें बढ़ गईं।

इंस्पेक्टर छत्ता उत्तम चंद पटेल ने बताया कि इसके लिए थाने की एक टीम को सादे में लगाया। पुलिस ने लोगों को जाल में फ ांस कर ठगी करने वाले ऐसे तीन शातिरों को गिरफ्तार कर लिया। गिरोह दिन में ठगी और रात में दुकानों में चोरी और नकबजनी करता था। गिरोह का सरगना फखरुद्दीन उर्फ फ ौजी है। वह फिरोजाबाद, थाना रामगढ़ के नगला बरी का रहने वाला है। खंदौली के नंदलालपुर में किराए का कमरा लेकर रह रहा था। उसके गिरफ्तार साथियों के नाम आमिर निवासी अब्बास नगर, रामगढ़ और आजाद निवासी सीता नगर रामबाग हैं। गिरोह 15 जनवरी की मध्य रात बेलनगंज के शारदा माकेर्ट की तीन दुकानों के ताले तोड़ नगदी और सामान चुरा ले गया था। गैंग का सरगना फिरोजाबाद में पहले भी कई बार जेल जा चुका है।

ठगी करने का तरीका

चार लोगों का गैंग एक चौराहे पर खड़ा हो जाता है। वे ऐसे व्यक्तियों को शिकार बनाते हैं, जो बाहरी होते हैं या फिर सड़क पर ऊंची बल्डिगिं और दीवारों पर छपे पोस्टर आदि को देखते हैं। गैंग के लोग समझ जाते हैं। यह व्यक्ति उनके झांसे में आ सकता है। वहीं गैंग का एक सदस्य उस व्यक्ति के आसपास जाकर अपनी सोने की ज्वेलरी गिर जाने का बहाना करता है। थोड़ी देर तलाश करने के बाद आगे बढ़ जाता है। ठीक थोड़ी देर में ही दूसरा सदस्य पहुंचता है, वह कहता है कि सोने की ज्वेलरी मिली है।

इसी दौरान गैंग का तीसरा सदस्य कहता है कि यह ज्वेलरी मेरी है। वहीं चौराहे पर खड़ा व्यक्ति यह सब खेल देख रहा होता है। वह जानता है कि जिस व्यक्ति की ज्वेलरी गिरी है, वह तो आगे निकल गया। उस ज्वेलरी को लेकर गैंग के सदस्य आपस में लडऩे लगते हैं। यह सब देख बाहरी व्यक्ति को लालच आ जाता है। शातिर उसके मन के भाव को भांप लेते हैं और कहते हैं कि भाई साहब आप ही खरीद लो। वहीं से मोल-भाव शुरू हो जाता है। 15 हजार की सोने की ज्वेलरी को महज पांच हजार रुपये में पाकर खुश हो जाता है। उसके जाने के बाद ज्वेलरी की जांच कराने पर नकली निकलती है।

Updated : 2017-02-02T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top