Top
Home > Archived > सोने की लालच में की थी सूरज की हत्या

सोने की लालच में की थी सूरज की हत्या

पुलिस ने उठाया अंधे हत्याकाण्ड से पर्दा
झांसी। नालांदा कालौनी के पीछे रेल्वे ट्रेक के पास मिली सूरज सिंह लाश के मामले में पुलिस ने पर्दा उठाते हुये। दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने और लूटे गये सोने के जेबरात बरामद करने में सफलता पायी है। आरोपियों ने कर्ज न चुका पाने और सोने की लालच में हत्याकाण्ड को अन्जाम देना स्वीकार किया। फिलहाल पुलिस ने पकडे गये दोनो आरोपियों को जेल भेजा है।

बीती 9 फरवरी को थापक बाग निवासी श्रीमती सुनीता परमार ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि उनके पति सूरज सिंह अपनी स्कूटी से कहीं गये थे और रात्री करीब 9 बजे उनकी फोन पर बात भी हुयी थी लेकिन उसके बाद फोन बन्द हो गया। सुबह जानकारी मिली कि एक व्यक्ति की लाश रेल्वे ट्रेक के पास मिली है जिसके शरीर पर गहरे निशान भी है। सुनीता ने घटना स्थल जाकर उनकी शिनाख्त उनके पति सूरज के रूप में की थी। जिसकी रिपोर्ट दर्ज की गयी थी। उसी मामले में पुलिस सुरागशी में लगी थी तभी स्वाट प्रभारी विक्रम सिंह और प्रभारी निरीक्षक आशीष मिश्र को खास मुखविर सूचना मिली कि इस मामले के हत्यारोपी लूट का माल दतिया बेचने जा रहे है और मरघटा के पास खडे है सूचना पर पुलिस ने छापा मार कर दो लोगों को पकडा जिन्होने अपना नाम अलीगोल खिडकी कोतवाली निवासी आकाश रायक्वार पुत्र अनिल और दूसरे ने उनाव गेट वाहर कोतवाली निवासी विक्की पुत्र सुरेश कुशवाहा बताया। पकडे जाने पर आरोपियों ने पुलिस के सामने सभी राज उगल दिये। आरोपियों ने बताया कि उन्होने मृतक सूरज से कर्ज ले रखा था जिसे वह बार बार मांगता था न देपाने की बजह और सूरज अधिक सोना पहनने के शौक की बजह से आरोपियों के मन में लालच आ गया नतीजन उन्होने सूरज को बुलाकर शराब के बहाने नशीला पदार्थ खिलाकर पहले तो वेहोश किया। और फिर चाकू से गोद कर उसकी हत्या कर दी और सोने की चेन के साथ अंगूठी और मोवाइल लूट लिया था। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों से लूटा गया सोना और आलाकत्ल बरामद कर दोनो को जेल भेज दिया है।

Updated : 2017-02-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top