Top
Home > Archived > केंद्र में नई भूमिका के लिए शिवराज तैयार

केंद्र में नई भूमिका के लिए शिवराज तैयार

केंद्र में नई भूमिका के लिए शिवराज तैयार

मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि मैं मुख्यमंत्री बनूंगा

*अमित श्रीवास्तव
उत्तर प्रदेश के चुनावों में स्टार प्रचारक के रूप में शमिल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश को किसानों के कल्याण और किसान हितैशी योजनाओं में अव्वल बताते हुए भाजपा शासित राज्यों में किसानों की हालत अच्छी दिखाने की कोशिश की। यह सच भी है कि मध्यप्रदेश में केंद्र व राज्य के समन्यवय से अनेक ऐसी योजनाएं चल भी रही हैं जो मध्य प्रदेश के किसानों को पड़ौसी राज्यों के मुकाबले आर्थिक सबलता का कारक बन रही हैं। बुंदेलखंड में सूखा प्रभावित इलाकों में उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश के क्षेत्रों में आने वाले जिलों में जनता का जीवन स्तर सुधारने में शासन व प्रशासन की कार्यवाहियों में अंतर दिखता भी है। खासकर मध्यप्रदेश में सिंचाई को लेकर तैयार किए बुनियादी ढांचे से किसानों को मिल रहे लाभ से शिवराज के काम की सराहना होती है। यह पहली बार है जब शिवराज ने सपा नेता मुलायम सिंह के गढ़ में जाकर धुआंदार सभाएं की। किसानों व आम जनता के लिए भाजपा शासित राज्यों व गैर भाजपा शासित राज्यों के कामों में इस अंतर व अन्य मुद्दों पर स्वदेश की शिवराज सिंह चौहान से बातचीत के अंश:

सवाल: आपका दावा है कि मध्यप्रदेश सरकार ने किसान कल्याण के क्षेत्र में बेहतरीन मॉडल तैयार किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में किसानों के उत्थान के लिए काम करने का जिक्र अक्सर करते हैं। तो क्या यदि प्रधानमंत्री मोदी देश की कृषि अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए केंद्र में कृषि मंत्री बनाएं तो मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़कर जाएंगे?

जवाब: यह सच है कि मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार ने पिछले दस सालों में किसानों की बेहतरी के लिए जो कदम उठाए हैं, वे प्रदेश को कृषि अर्थव्यवस्था के एक मॉडल के रूप में विकसित कर चुके हैं। रही बात मुख्यमंत्री पद छोड़ने की तो मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि मैं मुख्यमंत्री बनूंगा। पार्टी का आदेश हुआ तो यह जिम्मेदारी संभाली। पार्टी कहती है कि मुख्यमंत्री का पद छोड़कर केंद्र में आइए और कृषि मंत्रालय का जिम्मा संभालिए तो जरूर जाऊंगा। भाजपा की पहचान अनुशासन व कार्य के प्रति समर्पण जैसे गुणों से होती है और मेरे लिए पार्टी का आदेश हमेशा सिरमाथे पर होता है।

सवाल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जोर डिजिटल इंडिया पर है और इसलिए उत्तर प्रदेश भाजपा ने इससे जुड़ा एक परोक्ष विषय अपने संकल्प पत्र में रखा है। डिजिटल इंडिया के सहगामी कार्यकम के तहत भाजपा ने सरकार बनने पर छात्र-छात्राओं को लैपटॉप के साथ प्रतिमाह एक जीबी डाटा नि:शुल्क प्रदान करने का वादा किया है। क्या मध्यप्रदेश में भी सरकार कुछ इस तरह का प्रयोग करेगी?

जवाब: डिजिटल इंडिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का महात्वाकांक्षी कार्यक्रम है जो इस देश के आम नागरिक को ज्ञान, समान अवसर और सुशासन में भागीदारी का मौका देगा। मप्र सरकार केंद्र की इस योजना को सफल करने में पूरा जोर लगाएगी। जहां तक लैपटॉप की बात है तो हम मप्र में छात्र-छात्राओं को स्मार्ट फोन दे रहे हैं। डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने और इसके उद्देश्यों को पूरा करने के लिए छात्र-छात्राओं को लैपटाप देंगे।

सवाल: आप कहते हैं, मध्यप्रदेश में कानून-व्यवस्था उप्र के मुकाबले बेहतर है। लेकिन राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़े बताते हैं कि अपराध की संख्या के मामले में मप्र में ज्यादा भयावह स्थिति है?

जवाब: हमने सख्त निर्देश दे रखा है कि हर फरियादी की एफआईआर लिखी जाए और उसकी जांच के बाद दोषियों को दंड मिले। उत्तर प्रदेश में एफआईआर लिखवाना ही युद्ध लड़ने जैसा है। तो अपराध कम दिखाने का एक तरीका यह है कि एफआईआर ही न दर्ज होने दी जाए और उप्र में तो यही हो रहा है। जहां तक मप्र में कानून-व्यवस्था का सवाल है तो मैं बताऊं, कांग्रेस के शासन में भिंड, मुरैना, ग्वालियर, श्योपुर जिलों में डकैतों के आतंक से लोग शाम पांच बजे के बाद घर से बाहर नहीं निकलते थे। भाजपा सरकार आने के बाद मध्य प्रदेश में डकैतों का सफाया हुआ और नक्सलवाद व आतंकी संगठन सिमी की जड़े काट दी गयी। डकैत और अपराधी या तो मध्य प्रदेश छोड़कर भाग गये या जेलों के भीतर सड़ रहे हैं। अब मध्यप्रदेश में पुलिस चुस्त और भयमुक्त वातावरण है।

सवाल: मध्यप्रदेश में कुछ और विशेष?
जवाब: नागरिकों को बुनियादी ढांचा और बेहतर संसाधन प्रदान करने के लिए हमने रोडमैप तैयार किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू आवास योजना के तहत मध्य प्रदेश में गरीबों के लिए 2 लाख मकानों को मंजूरी देकर 1.45 लाख मकान बनाने का काम भी शुरू कर दिया गया। प्रदेश में अमृत योजना के तहत 26 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं पर काम जारी है। निवेश और उद्योग धंधों के विकास के लिए भी हमने रोड मैप तैयार किया है और उस पर काम कर रहे हैं।

Updated : 2017-02-14T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top