Top
Home > Archived > दो घण्टे घूमने के बाद भी नहीं मिले झोलाछाप, लटके मिले ताले

दो घण्टे घूमने के बाद भी नहीं मिले झोलाछाप, लटके मिले ताले

दो घण्टे घूमने के बाद भी नहीं मिले झोलाछाप, लटके मिले ताले
X

-देर से जागे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, पांच क्लीनिक सील
ग्वालियर/ सुजान सिंह बैस। शहर में खुलेआम झोलाछाप चिकित्सकों द्वारा संचालित की जा रहीं फर्जी क्लीनिकों पर कार्रवाई को लेकर स्वास्थ्य विभाग गंभीर नहीं है। फर्जी क्लीनिकों के विरुद्ध कार्रवाई के नाम पर किस प्रकार खानापूर्ति ही की जा रही है। इसका अंदाजा सीएमएचओ डॉ. एस.एस. जादौन द्वारा मंगलवार को की गई कार्रवाई को देखकर ही लगाया जा सकता है। जानकारी के अनुसार सीएमएचओ डॉ. जादौन मंगलवार को दो आरक्षकों के साथ गोल पहाड़िया क्षेत्र में कार्रवाई करने पहुंचे। यहां करीब दो घण्टे घूमने के बाद उन्हें तीन क्लीनिकें तो मिलीं, लेकिन उन पर ताले लटके हुए थे। हालांकि उन्होंने उक्त तीनों क्लीनिकों को सील कर दिया। इसके साथ ही डॉ. सुरेन्द्र कुशवाह की क्लीनिक की सील टूटने पर पुलिस कार्रवाई करने की बात कही गई। डॉ. जादौन अपने वाहन से सबसे पहले गोल पहाड़िया स्थित डॉ. रघुवीर कुशवाह के यहां पहुंचे, लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही डॉ. कुशवाह अपनी क्लीनिक बंद कर निकल चुके थे। इस पर उनकी क्लीनिक व मेडिकल को सील किया गया। इसके बाद डॉ. जादौन सील की गई डॉ. सुरेन्द्र कुशवाह की क्लीनिक देखने पहुंचे तो क्लीनिक की सील टूटी हुई थी और उन्हें पता चला कि डॉ. कुशवाह अपनी क्लीनिक अंदर गली में चला रहे हैं, जिसे देखने के लिए वह अंदर पहुंचे तो एक घर में क्लीनिक संचालित हो रही थी, जिसमें आयुर्वेद दवा भी रखी हुई थी। इस पर उन्होंने डॉ. कुशवाह पर पुलिस कार्रवाई करने की बात कही। इसके बाद डॉ. जादौन सीधे तिघरा रोड स्थित झण्डा का पुरा पहुंचे, जहां उनके पहुंचे की सूचना पहले से ही झोलाछाप चिकित्सकों को मिल चुकी थी। इस कारण यहां डॉ. कल्याण कुशवाह एवं डॉ. सूरज की क्लीनिकों को सील किया गया, लेकिन अभी इन क्लीनिकों को संचालित करने वाले चिकित्सकों के विरुद्ध कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा सकी है।

Updated : 2017-12-06T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top