Top
Home > Archived > सिंगरौली निजामुद्दीन एक्सप्रेस की मांग होगी पूरी

सिंगरौली निजामुद्दीन एक्सप्रेस की मांग होगी पूरी

सिंगरौली निजामुद्दीन एक्सप्रेस की मांग होगी पूरी
X

रेलवे हॉकी स्टेडियम को मिलेगी पुरानी पहचान: डीआरएम



यात्रियों को जल्द से जल्द मिलेगी एस्केलेटर और लिफ्ट की सुविधा

ग्वालियर । प्लेटफार्म क्रमांक एक पर बने वाटर एटीएम को दूसरी जगह शिफ्ट कराओ, साथ ही इस शौचालय के मलबे को यहां से साफ कराओ। ताकि प्लेटफार्म साफ और सुंदर दिखाई दे। यह निर्देश शनिवार को ग्वालियर आए डीआरएम अशोक कुमार मिश्र ने स्थानीय अधिकारियों को दिए। श्री मिश्र तानसेन रोड स्थित रेलवे हॉकी स्टेडियम में आयोजित हॉकी मैच के शुभारंभ अवसर पर ग्वालियर आए थे। श्री मिश्रा के आने की खबर मिलते ही शनिवार को सुबह से ही सफाई कर्मचारी सफाई करते हुए दिखाई दिए।

उद्घाटन समारोह के बाद श्री मिश्र जब झांसी जाने के लिए प्लेटफार्म क्रमांक एक पर पहुंचे, तो उन्होंने स्टेशन पर चल रहे विकास कार्यो की जानकारी स्थानीय अधिकारियों से ली। इस दौरान उन्होंने प्लेटफार्म क्रमांक एक पर बन रही लिफ्ट को भी देखा। शनिवार को पत्रकारों से चर्चा के दौरान श्री मिश्रा से जब सिंगरौली निजामुद्दीन एक्सप्रेस के बारे में पूछा गया कि यह ट्रेन ग्वालियर क्यों नहीं रूक रही है। जिस पर श्री मिश्रा ने बताया कि अगर इस ट्रेन को ग्वालियर में रूकवाने की मांग होगी तो रेलवे बोर्ड इस पर फैसला करेगा। एक सवाल के जवाब में उन्होनें इंदौर इंटरसिटी की गति को लेकर बताया कि यह ट्रेन डब्ल्यूसीआर की है। लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि बजट में हो सकता है ट्रेन की गति बढ़ा दी जाए।

अधिकारियों के आने पर ही क्यों चलता है एस्केलेटर, बोले देखता हूं

पत्रकारों से चर्चा के दौरान श्री मिश्रा ने बताया कि यात्रियों की सुविधा को देखते हुए लिफ्ट का निर्माण कराया जा रहा है। श्री मिश्रा से जब पूछा गया कि अधिकारियों के आने पर ही स्टेशन पर लगे एस्केलेटरों को चलाया जाता है। जिस पर श्री मिश्रा ने कहा कि मैं दिखवाता हूं। वहीं बाल रेल को लेकर उन्होंने साफ कर दिया है कि बीते कई सालों से ट्रेन नहीं चल पा रही है। इस वर्ष भी ट्रेन नहीं चलेगी।

पुराने स्वरूप में लौटेगा स्टेडियम

डीआरएम श्री मिश्रा ने बताया कि उन्होंने रेलवे हॉकी स्टेडियम का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें कई जगह कमियां मिली हंै। जिन्हें जल्द से जल्द दूर किया जाएगा। उन्होनें कहा कि रेलवे पूरा प्रयास करेगा, ताकि रेलवे हॉकी स्टेडियम पुराने स्वरूप में वापस लौट सके। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में बिछा एस्टोर्टर्फ खराब हो गया है, इसको सुधारा जाएगा।

Updated : 2017-12-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top