Home > Archived > मंत्रियों को लगानी होगी बायोमीट्रिक हाजिरी

मंत्रियों को लगानी होगी बायोमीट्रिक हाजिरी

मंत्रियों को लगानी होगी बायोमीट्रिक हाजिरी
X


लखनऊ।
प्रदेश की योगी सरकार बाबुओं और अधिकारियों के लिए बायोमीट्रिक हाजिरी अनिवार्य करने के बाद अब अपने मंत्रियों की भी हाजिरी इसके जरिए लगवाएगी। सरकार का इस फैसले के पीछे यह मानना है कि हर आदमी को अपने काम के प्रति जवाबदेही बनाना है, यह फैसला भी उसी के ओर बढ़ा हुआ एक कदम है।

जिस तरह से एनेक्सी में अधिकारियों और बाबुओं की फिंगरप्रिंट अटेंडेंस होती है उसी तरह से मंत्रियों की भी हाजिरी लगेगी। इस व्यवस्था के तहत अब मंत्रियों और उनके स्टाफ को भी अंगूठा लगाकर बायोमीट्रिक हाजिरी लगानी होगी। यही नहीं सरकार इसको बढ़ाकर सूबे के सभी मंडल जिलों और मुख्यालयों तक में बायोमेट्रिक हाजिरी जरूरी करने जा रही है। योगी सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा के मुताबिक योगी सरकार में हर आदमी को अपने काम के प्रति जवाबदेही बनाना है, सरकार का ये फैसला उसी की ओर बढ़ा हुआ एक कदम है। सरकार का मनन है कि इससे सरकारी कार्यालयों के काम करने की शैली में पारदर्शिता आएगी। इसको लेकर एक प्रपोजल मुख्यमंत्री के सामने पेश किया गया था जिसको मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दे दी है। जल्द ही इसे कैबिनेट में पास कराकर लागू कर दिया जाएगा। शुरूआती दौर में इसको लखनऊ के सचिवालय में इसका प्रयोग किया जाएगा। इसको लगाने में 66 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इसको लेकर विभागों से इस नई व्यवस्था पर प्रतिवेदन मांगा गया है। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद पहले चरण में सचिवालय में कर्मचारियों-अधिकारियों के साथ ही मंत्रियों की भी हाजिरी के लिए बायोमीट्रिक मशीनें लगाई जाएंगी। सूत्रों की मानें तो सचिवालय में यह व्यवस्था लागू होने के बाद अफसरों को यह जिम्मेदारी दी जाएगी कि वे अपने मंडलीय और जिला कार्यालयों में इस व्यवस्था को लागू करें।

Updated : 2017-12-11T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top