Top
Home > Archived > हरियाणा : जाट और गैर जाट के बीच छिडी जंग, सरकार ने पहले ही सूबे के 13 जिलों में इंटरनेट सेवाएं की बंद

हरियाणा : जाट और गैर जाट के बीच छिडी जंग, सरकार ने पहले ही सूबे के 13 जिलों में इंटरनेट सेवाएं की बंद

हरियाणा : जाट और गैर जाट के बीच छिडी जंग, सरकार ने पहले ही सूबे के 13 जिलों में इंटरनेट सेवाएं की बंद

रोहतक। हरियाणा में जाट और गैर जाट के बीच छिडी जंग ने एक बार फिर से प्रदेश सरकार के लिए परेशानी खडी कर दी है। जाट आरक्षण को लेकर आज दो बडी जनसभाएं होने वाली है। एक तरफ अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने रोहतक में रैली बुलाई है, वहीं दूसरी तरफ आरक्षण के विरोध में कुरक्षेत्र से बीजेपी के सांसद राजकुमार सैनी जींद में समानता महासम्मेलन कर रहे हैं।

ज्ञातव्य है कि जाटों ने राजकुमार सैनी के महासम्मेलन का कड़ा विरोध किया है। शुक्रवार को जींद में काफी तनाव देखने को मिला था। यहां जाटों ने राजकुमार सैनी की प्रस्तावित रैली का जमकर विरोध किया। जींद-कैथल मार्ग पर जाटों ने जमा लगा दिया था, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था। आरक्षण पर बीजेपी सांसद और जाट नेताओं के बीच टकराव को देखते हुए पूरे सूबे में अलर्ट जारी किया गया है। राज्य सरकार ने अर्धसैनिक बलों की 25 कंपनियां मांगी हैं। हरियाणा पुलिस के मुताबिक, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए राज्य के लगभग 13 जिलों में पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। वहीं पुलिस ने एहतियातन गिरफ्तारियां भी की हैं। शनिवार शाम कई सरपंच और जेल में बंद रहे युवाओं को किया गिरफ्तार किया गया। वहीं तनाव को देखते हुए पुलिस ने जगह जगह नाकेबंदी की है। मधुबन पुलिस ट्रेनिंग सेंटर से अतिरिक्त जवान बुलाए गए हैं। वहीं रोहतक-पानीपत हाईवे से वाहनों के रूट डाइवर्ट किए गए हैं।

हम आपको बता दें कि सरकार ने पहले ही सूबे के 13 जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। सरकार की तरफ से तीन दिनों के लिए इंटरनेट सेवाएं निरस्त की गई हैं, जो 26 नवंबर की आधी रात तक बंद रहेंगे। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के प्रमुख यशपाल मलिक रोहतक जिले के जसिया गांव में रैली करेंगे। इस दौरान जाट सेवा संघ द्वारा जसिया में सर छोटूराम के नाम से कोचिंग एकेडमी के लिए भूमि पूजन किया जाएगा। रैली में तमाम बडे जाट नेताओं को निमंत्रण दिया गया है। इनमें केंद्रीय इस्पात मंत्री बीरेंद्र सिंह और इनेलो के नेता अभय चौटाला भी हिस्सा लेंगे। वहीं सूबे के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और कृषि मंत्री ओपी धनखड को रैली में नहीं बुलाया गया है।

Updated : 2017-11-26T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top