Top
Home > Archived > हेगड़े जी का सम्मान करने का मौका मिलता है तो मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं : पीएम मोदी

हेगड़े जी का सम्मान करने का मौका मिलता है तो मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं : पीएम मोदी

हेगड़े जी का सम्मान करने का मौका मिलता है तो मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं : पीएम मोदी

मंगलौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को एक दिन के दौरे पर कर्नाटक पर हैं। फिलहाल वे मंगलुरु के उजीर से एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमें भावी पीढ़ी की चिंता करनी चाहिए, हमें उनके लिए बहुत कुछ छोड़कर जाना है।हमें 50 फीसदी तक यूरिया के इस्तेमाल पर रोक लगानी होगी।पीएम ने कहा कि 57 हजार करोड़ रुपए गलत हाथों में जा रहे हैं।

कर्नाटक के धर्मस्थला में मंजूनाथेश्वर स्वामी मंदिर में दर्शन करने के बाद पीएम ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे आज मंजुनाथेश्वर के दर्शन करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि जिस पद पर आपने मुझे बैठाया है उसकी गरिमा के कारण आचार और विचार में एक सूत्रता, मन वचन कर्म में वही पवित्रता और जिस लक्ष्य को जीवन में तय किया है, उसे प्राप्त करने के लिए हम कार्य करते हैं।

गौरतलब है कि जब मुझे हेगड़े जी का सम्मान करने का मौका मिलता है तो मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं। उन्होंने मुझसे कहा कि यह 50 साल पूरे होने का सम्मान नहीं है। मैं तो आगे 50 साल काम करने की गैरंटी मांग रहा हूं। जिसे 800 साल की तपस्या विरासत में मिली हो इसके बावजूद कर्मपथ पर अग्रसर रहना हेगड़े जी से सीखना होगा। उन्होंने कहा कि डॉ विरेंद्र हेगड़े जी ने अपने चिंतन के द्वारा सब चीजों को यहां के अनुसार ढालकर आगे बढ़ाया है। देश में कौशल विकास को लेकर जो काम हो रहे हैं उसे बहुत कुछ हेगड़े जी के काम से मिला है, उनके प्रयोग से मिला है। मोदी बोले, भारत जैसे देश में जिसके पास 65 प्रतिशत लोग 35 वर्ष से कम आयु के हों। उस देश में भारत के भव्य सपनों को साकार करने के लिए बाहुओं में सामर्थ्य लाना, यह चीज हेगड़े जी ने बहुत पहले देखी थी।

हम आपको बता दे कि आज विश्व में उत्तम प्रकार के बिजनेस मैनेजमेंट स्कूल कैसे चल रहे हैं। इसकी रैंकिंग होती है लेकिन आज मैं दुनिया के बड़े विश्वविद्यालयों को निमंत्रित करता हूं कि वे संस्कार संक्रमण और ऋषि मुनियों द्वारा स्थापित संस्थाओं का भी अध्ययन करें। भारत में ऐसी हजारों संस्थाएं और आंदोलन हैं। ये स्व से निकलकर समष्टि के लिए जीने की प्रेरणा देते हैं। और पीएम ने कहा कि मैं स्वयं सहायता समूह की बहनों और डॉ. हेगड़े को बधाई देता हूं कि उन्होंने डिजिटल ट्रांजैक्शन के लिए बड़े आंदोलन की शुरुआत की। ज्यादा नकद धन बुराइयों को खींच लाता है। बेटे-बेटियों को भी सीमा में ही पैसे दिए जाते हैं।

Updated : 2017-10-29T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top