Home > Archived > इंडियन आइडल और ताइक्वांडो में भाग ले चुका युवक लूट के मामले में गिरफ्तार

इंडियन आइडल और ताइक्वांडो में भाग ले चुका युवक लूट के मामले में गिरफ्तार

इंडियन आइडल और ताइक्वांडो में भाग ले चुका युवक लूट के मामले में गिरफ्तार
X

नई दिल्ली। लूट व वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम देने के आरोप में पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल युवक को दोस्त के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान सूरज सिंह उर्फ फाइटर के रूप में हुई है। वह कंप्यूटर इंजीनियर है। इंडियन आइडल में भाग लेने के साथ ही वह ताइक्वांडो में राष्ट्रीय स्तर पर दो बार गोल्ड मेडल भी जीत चुका है। आरोपी फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है लेकिन महंगे शौक और अय्याशी ने उसे लुटेरा बना दिया। पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी से लूट व वाहन चोरी के पांच वारदातों को सुलझाने का दावा किया है।

बाहरी जिले के डीसीपी एमएन तिवारी के अनुसार, बीते 21 अक्तूबर को दीपक अपने तीन अन्य दोस्तों के साथ रणहौला इलाके से जा रहा था। रास्ते में बदमाशों ने उन पर मिर्ची का स्प्रे कर दिया। इसके बाद पिस्तौल के बल पर उनका पर्स, सोने की चेन, मोबाइल, एटीएम कार्ड आदि लूट लिया। दीपक की शिकायत पर रणहौला पुलिस ने मामला दर्ज किया।

इस वारदात को ध्यान में रखते हुए वाहन चोरी निरोधक दस्ते की टीम भी जांच कर रही थी। रणहौला निवासी सूरज उर्फ फाइटर ने रणहौला में हुई लूट को अंजाम देने का गुनाह पुलिस के समक्ष कबूल कर लिया। पुलिस ने शिकायतकर्ता का पर्स, एटीएम कार्ड, एक कट्टा, मिर्ची का स्प्रे और वारदात के दौरान इस्तेमाल की गई स्कूटी बरामद कर ली। उसके खिलाफ पहले से 24 केस दर्ज हैं। उसने पुलिस को बताया कि पड़ोस में रहने वाला अनिल भी उसके साथ वारदात में शामिल था। इस जानकारी पर पुलिस ने अनिल को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस हिरासत में जब आरोपी को मीडिया के समक्ष पेश किया गया तो उसने अपनी मधुर आवाज में कैमरे पर गाना भी सुनाया।

अच्छे परिवार का सदस्य है फाइटर

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, गिरफ्तार किया गया सूरज मुंबई में रहने वाले एक अच्छे परिवार से संबंध रखता है। उसके पिता मुंबई हाईकोर्ट में अधिवक्ता हैं। सूरज ने कंप्यूटर इंजीनियरिंग का डिप्लोमा किया हुआ है। साथ ही वह वर्ष 2013 और 2014 में ताइकवांडो का राष्ट्रीय चैंपियन भी रहा है। वह अच्छा गायक है और इंडियन आयडल में भी हिस्सा ले चुका है।

तीन साल पहले भी हुआ था गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार वर्ष 2014 में सूरज को पहली बार जनकपुरी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उस समय उसके पास से 49 मोबाइल फोन बरामद हुए थे। इसके बाद जून 2017 में उसे तिलक नगर पुलिस ने लूट के मामले में गिरफ्तार किया था। कुछ ही समय पहले वह जमानत पर जेल से छूटकर बाहर आया था। बाहर आने के बाद वह एक बार फिर से वारदात को अंजाम देने लगा।

महंगे चीजों के शौक ने बनाया लुटेरा

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी की मानें तो सूरज अच्छे कपड़े और जूते पहनने का शौकीन है। इसके अलावा वह महिला दोस्तों के साथ क्लबों में जाने का भी शौक रखता है। सूत्रों के अनुसार, आधा दर्जन लड़कियों से उसके संबंध रहे हैं। वह केवल बिसलेरी (बोतल) का पानी ही पीता है। उसकी गलत आदतों के चलते कुछ समय पहले ही परिवार ने उसे अपने घर से निकाल दिया है। इसके बाद से वह अलग ही रहता था।

Updated : 2017-10-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top