Top
Home > Archived > हनुमान मंदिर तोड़ने का बजरंग दल ने किया विरोध

हनुमान मंदिर तोड़ने का बजरंग दल ने किया विरोध

हनुमान मंदिर तोड़ने का बजरंग दल ने किया विरोध
X

सात दिन में मंदिर की पुनर्स्थापना नहीं की तो बजरंग दल करेगा जीडीए का घेराव: वर्मा

ग्वालियर। बोहड़ापुर में मस्तान बाबा की दरगाह के पीछे स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर को ग्वालियर विकास प्राधिकरण (जीडीए) ने ध्वस्त कर दिया है। इसके विरोध में सोमवार को बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने मौके पर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया और जीडीए को चेतावनी दी कि यदि सात दिवस में मंदिर का पुनर्निर्माण कर हनुमान जी की मूर्ति स्थापित नहीं की गई तो बजरंग दल जीडीए कार्यालय का घेराव कर उग्र आंदोलन करेगा।

सोमवार को सोमवार को सुबह 10 बजे मौहल्ले वालों द्वारा दी गई सूचना पर बजरंग दल के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने घटना स्थल पर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। इसकी सूचना मिलते ही तत्काल बोहड़ापुर थाना प्रभारी राघवेन्द्र तोमर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने कहा कि जीडीए कर्मचारियों ने चार-पांच माह पहले भी इस मंदिर को तोड़ने का प्रयास किया था। तब भी बजरंग दल ने आंदोलन कर मंदिर को बचाया था। पुन: जीडीए कर्मचारीयों ने मौका देखकर मंदिर को तोड़ने के साथ हनुमान जी की मुर्ति को भी छतिग्रस्त कर दिया है। इस मंदिर पर हिन्दू समाज के लोग प्रतिदिन पूजा-अर्चना करने के लिए आते हैं। मंदिर को तोड़े जाने से हिन्दू समाज में भारी रोष व्याप्त है।

विहिप के प्रांत सहमंत्री पप्पू वर्मा ने कहा है कि यदि सात दिवस के अंदर मंदिर का पुनर्निर्माण कर हनुमान जी की मूर्ति स्थापित नहीं गई तो बजरंग दल उग्र आंदोलन करते हुए जीडीए कार्यालय का घेराव करेगा। उन्होंने कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं है कि प्राचीन समय से स्थापित मंदिरों को तोड़ा जाए। जीडीए कर्मचारियों ने मंदिर को तोड़कर हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया है, इसलिए उक्त कर्मचारियों के विरुद्ध जल्द से जल्द कानून कार्यवाही की जाना चाहिए। इसके लिए बजरंग दल के पदाधिकारियों ने थाना प्रभारी को एसडीएम के नाम ज्ञापन भी दिया है। विरोध प्रदर्शन करने वालों में सुशील जैन, भरत पाठक, मनोज गोडिया, मनोज रजक, रिंकू भदौरिया, पप्पू राठौर, अजय श्रीवास्तव, कृष्णकुमार रावत, दीपक परमार, शेरू भाई, हरीश रजक, विजय कन्नौजिया, नीरज ऊचीया, रविराज लुढेले, सौरभ शर्मा, धर्मेन्द्र शिन्दे, राजू गोस्वामी, सोनू तिवारी, नवीन कुलश्रेष्ठ, मुकेश चौहान, जगदीश चौहान, रंजीत रजक, राकेश कुशवाह सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल थे।

Updated : 2017-10-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top