Home > Archived > यूसए कोर्ट ने टीसीएस का कम किया जुर्माना

यूसए कोर्ट ने टीसीएस का कम किया जुर्माना

यूसए कोर्ट ने टीसीएस का कम किया जुर्माना
X

बैंग्लुरू/नई दिल्ली। अमेरिका के विस्कोसिन राज्य की अदालत ने भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टीसीएस पर लगा 6110 करोड़ रूपये के जुर्माने को कम कर 2730 करोड़ रूपये कर दिया। अमेरिकी हेल्थकेयर कंपनी एपिक सिस्टम ने टीसीएस पर अपने ट्रेड सीक्रेट्स चोरी करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद अमेरिकी अदालत में टीसीएस के खिलाफ मामला चल रहा था। जिस पर अदालत ने टीसीएस पर 6110 करोड़ रूपये का जुर्माना लगाया था। टाटा समूह की इस कंपनी ने बताया कि वो अमेरिकी अदालत के इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे।

1868 में जमशेदजी टाटा द्वारा स्थापित, टाटा समूह एक वैश्विक उद्यम है, जिसका मुख्यालय भारत में है, जिसमें 100 से अधिक स्वतंत्र ऑपरेटिंग कंपनियां शामिल हैं। यह समूह छह महाद्वीपों के 100 से अधिक देशों में काम करता है।

टाटा सन्स प्रमुख निवेश होल्डिंग कंपनी और टाटा कंपनियों के प्रमोटर हैं। टाटा संस की इक्विटी शेयर पूंजी का 66 प्रतिशत हिस्सा लोकोपकारी ट्रस्टों द्वारा किया जाता है, जो शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका और कला और संस्कृति का समर्थन करते हैं। 2016-17 में, टाटा कंपनियों का राजस्व 100 मिलियन अरब डॉलर था। ये कंपनियां 695000 लोगों को सामूहिक रूप से रोजगार देती हैं

प्रत्येक टाटा कंपनी या उद्यम अपने स्वयं के बोर्ड निदेशक और शेयरधारकों के मार्गदर्शन और पर्यवेक्षण के अंतर्गत स्वतंत्र रूप से संचालित होता है। कुल मिलाकर 29 सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध टाटा उद्यमों का संयुक्त बाजार पूंजीकरण लगभग 130.13 बिलियन (31 मार्च, 2017 तक) हैं। टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा पावर, टाटा केमिकल्स, टाटा ग्लोबल बेवरेजेज, टाटा टेलीसर्विसेज, टाइटन, टाटा कम्युनिकेशंस और इंडियन होटल्स महत्वपूर्ण टाटा कंपनियां हैं।

Updated : 1 Oct 2017 12:00 AM GMT
Next Story
Share it
Top