Latest News
Home > Archived > बीईओ रौन शर्मा का निधन

बीईओ रौन शर्मा का निधन

बीईओ रौन शर्मा का निधन
X


मिहोना।
विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी रौन एवं उमावि मिहोना के प्राचार्य रामखिलौना शर्मा का 12 दिन तक जिंदगी और मौत से लड़ते-लड़ते आज निधन हो गया। मुखाग्नि उनके पुत्र शुभ शर्मा ने दी।
प्राचार्य शर्मा सबसे कम उम्र में 12 के प्राचार्य थे, साथ-साथ रौन विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी का प्रभार भी था। एक प्रतिभावान व्यक्तित्व, सरल स्वभाव के लिए जाने जाते थ। शर्मा जी विगत 31 दिसंबर की शाम को ब्रेन अटेक पडऩे से कोमा में चले गए और 12 दिन तक जिंदगी मौत से जंग लड़ते-लड़ते आज अंतिम सांस ली। प्राचार्य शर्मा भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पत्रकार हरीबाबू शर्मा निराला के बड़े भाई थे। उनके निधन से पूरे क्षेत्र में शोक फैल गया। सभी शासकीय एवं अशासकीय शिक्षण संस्थानों में कंडोलेंस के बाद जनसमुदाय उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होने के लिए उमड़ पड़ा। जिसमें अधिकारीगण, गणमान्य नागरिक तथा रौन विकास खण्ड के समस्त कर्मचारीगण, पत्रकारगण शामिल हुए।
अंतिम यात्रा में प्रमुख रूप से नगर परिषद अध्यक्ष शिवमोहन सिंह, पूर्व नप अध्यक्ष संतोष बौहरे, सीएमओ सतीश मरसेनिया, हरविलाश उपाध्याय, अंगद सिंह, सुनील चतुर्वेदी, शिवेन्द्र सिंह, नरेन्द्र सिंह चौहान, चित्रा शर्मा, आशुतोष दोहलिया, रमेश चौधरी, राजाभैया भारद्वाज, धीरज बौहरे, अनेश सिंह शामिल हुए। हर किसी की जुवान पर बस यही चर्चा थी कि मिहोना नगर ने आज अपना होनहार बेटा नगर का गौरव खोया है, यदि वह जीवित रहते तो शिक्षा के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित करते, विभाग में उच्च पद पर पहुंचकर नगर का नाम रोशन करते।

Updated : 2017-01-12T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top