Top
Home > Archived > दुनिया की शीर्ष 5 तोपों में शामिल हुई ‘धनुष’

दुनिया की शीर्ष 5 तोपों में शामिल हुई ‘धनुष’

दुनिया की शीर्ष 5 तोपों में शामिल हुई ‘धनुष’
X


कानपुर।
सरहद पर आक्रामकता क्षमता को बढ़ाने के लिए बोफोर्स के बाद अब ‘धनुष’ तोप भी सेना के बेड़े में शामिल हो गई हैं। कानपुर की ऑर्डिनेंस फैक्टरी में तैयार होने वाली इस स्वदेशी तोप की मारक क्षमता बोफोर्स के मुकाबले 18 किलोमीटर ज्यादा है। बता दें कि बोफोर्स की मारक क्षमता 26 किलोमीटर तक है।

कानपुर ऑर्डिनेंस फैक्टरी ने यह अत्याधुनिक तोप डीआरडीओ के साथ मिलकर बनाई है। कई मायनों में बेहतर ‘धनुष’ तोप की बैरल रेंज 46 किलोमीटर तक है, जो दुनिया की किसी भी तोप को मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है। ‘धनुष’ का नया बैरल आठ मीटर लंबा है। यह दुनिया के सबसे लंबे बैरल वाली तोपों में से एक है। आठ मीटर लंबी तोप सिर्फ अमेरिका, इस्रायल और रूस के पास है। खास बात यह है कि आठ मीटर लंबे धनुष के बैरल को बोफोर्स तोप में भी लगाया जा सकता है।

‘धनुष’ देश की पहली तोप है जिसमें 90 फीसदी कलपुर्जे भारत में बने हैं। सिर्फ दस फीसदी कलपुर्जे बीईएल (भारत इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड) से लिए जाते हैं। इन हिस्सों को भी स्वदेश में तैयार करने का काम चल रहा है। सेना को इसे सौंपने से पहले इससे 2000 राउंड फायर किए गए। सेना ने ऑर्डिनेंस फैक्टरी कानपुर को 414 ‘धनुष’ का आर्डर दिया है। ऑर्डिनेंस फैक्टरी को एक तोप बनाने में 15-20 दिन का समय लगता है। पहले चरण में 114 ‘धनुष’ तैयार कर देनी हैं, जिनमें से कुछ तोपें दी जा चुकी हैं। तैयार होने वाली तोपों में धनुष और उसका उन्नत संस्करण भी शामिल है। जहां जैसी जरूरत होगी सेना उसका इस्तेमाल कर सकेगी। यह संख्या आगे बढऩे की उम्मीद है।

धनुष 03 डिग्री सेल्सियस से 55 डिग्री सेल्सियस तक तापमान में भी काम करने में सक्षम है। धनुष का बैरल रूसी और यूरोपीय तकनीक को मिलाकर तैयार किया गया है, जो किसी भी सूरत में फटेंगे नहीं।

Updated : 2017-01-10T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top