Latest News
Home > Archived > मृगशिरा नक्षत्र में होगी गजलक्ष्मी की पूजा

मृगशिरा नक्षत्र में होगी गजलक्ष्मी की पूजा

मृगशिरा नक्षत्र में होगी गजलक्ष्मी की पूजा
X


ग्वालियर। श्राद्धपक्ष आश्विन कृष्ण पक्ष अष्टमी के अवसर पर पुत्र की दीर्घायु, आरोग्य लाभ तथा सर्वाधिक कल्याण के लिए हाथी पर सवार देवी गजलक्ष्मी का पूजन किया जाएगा। इस मौके पर पार्थिव हाथी की पूजा का विधान है।

इस बार महालक्ष्मी व्रत शुक्रवार 23 सितम्बर को पड़ रहा है। व्रत की तैयारियां 2 दिन पूर्व से ही प्रारंभ हो चुकी हैं। कल घर-घर में माता महालक्ष्मी का पूजन-अर्चन किया जाएगा और महालक्ष्मी अपने भक्तों को धन-धान्य एवं सुख-संपत्ति से परिपूर्ण करेंगी।

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी ने बताया कि महालक्ष्मी व्रत प्रतिवर्ष पितृ पक्ष में पड़ता है। आश्विन मास कृष्ण पक्ष की अष्टमी को महालक्ष्मी व्रत पूर्ण होने पर माता महालक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा की जाती है। इस व्रत के करने से घर में हमेशा माता महालक्ष्मी का वास हो जाता है और कभी भी दरिद्रता नहीं आती है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को मृगशिरा नक्षत्र में महालक्ष्मी की पूजा अर्चना की जाएगी। उन्होंने बताया कि पितृपक्ष में यह सबसे शुभ माना जाता है। इस दिन खरीदारी भी की जा सकती है।

Updated : 2016-09-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top