Top
Home > Archived > दस साल पुराने डीजल वाहनों पर एनजीटी ने लगाया प्रतिबंध

दस साल पुराने डीजल वाहनों पर एनजीटी ने लगाया प्रतिबंध

दस साल पुराने डीजल वाहनों पर एनजीटी ने लगाया प्रतिबंध

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने दस साल पुरानी डीजल गाड़ियों पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया हैं। साथ ही दस साल से पुरानी डीजल गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन खत्म करने का भी आदेश दिया है। इस मामले पर अगली सुनवाई के लिए एनजीटी ने 20 जुलाई की तारिख तय की है।

दिल्ली आरटीओ को जारी किए गए आदेश में एनजीटी ने कहा कि दस साल से पुरानी डीजल गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन खत्म किया जाए। आरटीओ जिन वाहनों का रजिस्ट्रेशन खत्म करेगा, उनकी लिस्ट ट्रैफिक पुलिस को सौंपी जाए। एनजीटी के आदेश के बाद आरटीओ अब इस संबंध में एक पब्लिक नोटिस जारी करेगा। ट्रकों को फिलहाल कुछ समय के लिए राहत दी गई है। एनजीटी ने धूल और कूड़ा जलाने संबंधी निर्देशों पर भी संबंधित विभाग से अलग-अलग राज्यों से रिपोर्ट मांगी है।

एनजीटी ने सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार से इस बारे में भी जवाब मांगा है कि स्कूल और अस्पतालों को ‘नो हाँकिंग जोन’ के रूप में चिह्नित किया गया है या नहीं। उसने इसी के साथ यह आदेश भी दिया कि वाहनों में बाहर से कोई हॉर्न नहीं लगाए जाएंगे। दो पहिया वाहन पर भी यह नियम लागू होगा। एनजीटी ने डीजल वाहनों पर प्रतिबंध का आदेश जारी करने के साथ ही यह सवाल भी किया जब डीजल वाहन, पेट्रोल वाहन की तुलना में महंगे हैं तो इन पर रोक लगाने को लेकर इतना हल्ला क्यों मचाया जा रहा है। उसका कहना था कि ऑड -इवन योजना से भी दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर नहीं सुधर पाया है।

एनजीटी के इस फैसले पर ट्रांसपोर्ट असोसिएशन के दीपक सचदेवा ने कहा कि वह इस निर्देश के खिलाफ हैं और इसकी कई वजहें हैं। हर 12 साल पुरानी कार प्रदूषण फैला रही है, ऐसा नहीं है। गत वर्ष ट्रिब्यूनल ने दिल्ली में ऐसे ही वाहनों पर यह कहते हुए प्रतिबंध लगा दिया था कि राजधानी में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर है और दिल्ली के लोगों को इससे निजात मिलनी ही चाहिए।

इससे पहले हुई सुनवाई में एनजीटी ने यह साफ संकेत दे दिए थे कि प्रदूषण के स्तर को देखते हुए दिल्ली में दस साल से अधिक पुरानी डीजल गाड़ियों और 15 साल से अधिक पुरानी पेट्रोल गाड़ियों पर रोक लगाने पर विचार किया जा सकता है। इस बारे में आज का उसका फैसला काफी अहम माना जा रहा है।

Updated : 2016-07-18T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top