Top
Home > Archived > सोना 26 महीने के उच्च स्तर से लुढ़का

सोना 26 महीने के उच्च स्तर से लुढ़का

सोना 26 महीने के उच्च स्तर से लुढ़का

26 महीने के उच्च स्तर से लुढ़का सोना


नई दिल्ली| विदेशों में मजबूती के बावजूद घरेलू बाजार में स्टॉकिस्टों की मुनाफावसूली और मौजूदा उच्च स्तर पर आभूषण विक्रेताओं की मांग में गिरावट से राष्ट्रीय राजधानी सर्राफा बाजार में सोना 26 माह के उच्च स्तर से 485 रुपये टूटकर 30,400 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया।

हालांकि, चांदी में तेजी जारी रही। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं का उठाव बढ़ने से इसकी कीमत 90 रुपये बढ़कर 42,390 रुपये प्रति किलो हो गयी। बाजार सूत्रों ने कहा कि घरेलू बाजारों में मौजूदा उच्च स्तर पर आभूषण विक्रेताओं की लिवाली कमजोर पड़ने से मुख्यत: सोने की कीमतों में गिरावट आई। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कुछ फुटकर विक्रेता पुराने सोने की कतरनों की बिक्री कर रहे थे इससे भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई।

सूत्रों ने कहा कि विदेशों में मजबूती के रूख ने यहां गिरावट पर कुछ अंकुश लगा दिया। ब्रिटेन के जनमत संग्रह में उसके यूरोपीय संघ से बाहर होने का फैसला मिलने के कारण कल सोने में वर्ष 2008 के बाद की सर्वाधिक तेजी देखने को मिली। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में कल के कारोबार में सोना 4.9 प्रतिशत चढ़कर 1,317.94 डॉलर प्रति औंस हो गया जो मार्च 2014 के बाद का उच्चतम स्तर है। चांदी की कीमत भी 2.6 प्रतिशत की तेजी के साथ 17.73 डॉलर प्रति औंस हो गई।

घरेलू बाजार में सोना 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता की कीमत 485. 485 रपये की गिरावट के साथ क्रमश: 30,400 रुपये और 30,250 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुई। ब्रिटेन के जनमत संग्रह में यूरोपीय संघ को छोड़ने का परिणाम आने से कल के कारोबार में सोने में 1,215 रुपये की तेजी आई थी जो अगस्त 2013 के बाद एक दिन में आई सर्वाधित तेजी थी। गिन्नी 100 रुपये की गिरावट के साथ 23,300 रुपये प्रति 8 ग्राम पर बंद हुई।

इसी प्रकार चांदी तैयार की कीमत 90 रुपये की तेजी के साथ 42,390 रुपये प्रति किलो और साप्ताहिक डिलीवरी 310 रुपये की तेजी के साथ 42,150 रुपये प्रति किग्रा पर बंद हुई। दूसरी ओर चांदी सिक्का लिवाल 72,000 रुपये और बिकवाल 73,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर स्थिरता का रूख लिए बंद हुआ।

Updated : 2016-06-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top