Top
Home > Archived > अफ्रीकी छात्र की हत्या नस्लीय भेदभाव का मामला नहीं: सुषमा

अफ्रीकी छात्र की हत्या नस्लीय भेदभाव का मामला नहीं: सुषमा

अफ्रीकी छात्र की हत्या नस्लीय भेदभाव का मामला नहीं: सुषमा

अफ्रीकी छात्र की हत्या नस्लीय भेदभाव का मामला नहीं: सुषमा

नई दिल्ली| विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अफ्रीकन छात्रों से मुलाकात कर उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि कांगो के छात्र ओलीवर पर हुआ हमला कोई नस्लीय हमला नहीं था। यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण और तकलीफ देने वाली है।

विदेश मंत्री ने कहा, 'सीसीटीवी फुटेज में यह साफ दिख रहा है कि जो भी भारतीय वहां पर मौजूद थे उन्होंने ओलीवर को बचाने की पूरी कोशिश की। जिस दिन यह घटना घटी मैंने तुरंत एलजी से रिपोर्ट मांगी। मुझे बताया गया कि दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।' सुषमा ने कहा कि एक मां होने के नाते मैं ओलीवर के माता-पिता का दर्द समझ सकती हूं जिन्होंने विदेशी जमीन पर अपने बेटे को खोया।


सुषमा ने कहा कि हम उन इलाकों में जागरूकता और संवेदनशीलता बढ़ाने के कार्यक्रम चलाएंगे जहां अफ्रीकन छात्रों की ज्यादा आबादी है ताकि फिर से ऐसी घटनाएं न हो। इससे पहले सोमवार को विदेश सचिव एस. जयशंकर ने कहा था कि अफ्रीकी नागरिकों की सुरक्षा करना और उनमें भरोसे को बरकरार रखना सरकार की जिम्मेदारी है। विदेश सचिव ने भी सोमवार को अफ्रीकी छात्रों के एक समूह से मुलाकात की थी।

मालूम हो कि 20 मई को कांगो के नागरिक मसोन केटांडा ओलीवर की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, छतरपुर इलाके में गुरुवार रात कुछ अफ्रीकी नागरिकों पर कथित तौर पर हमले हुए। पीड़ित के मुताबिक, यह एक नस्लीय हमला था और हमलावर चिल्ला रहे थे 'अफ्रीकियों हमारा देश छोड़ो।' हालांकि, पुलिस ने नस्लीय हमले से इनकार किया है।

Updated : 2016-05-31T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top