Top
Latest News
Home > Archived > बाईं करवट सोने के ये फायदें नहीं जानते होंगे आप

बाईं करवट सोने के ये फायदें नहीं जानते होंगे आप

बाईं करवट सोने के ये फायदें नहीं जानते होंगे आप

ये फायदे जानकर आप भी शुरू कर देंगी बाईं करवट लेकर सोना


जब आप सोने जाते हो तो अक्सर थकान के मारे आपको याद भी नहीं रहता कि आप कैसे सो रही हो। लेकिन आपकी सोने की आदत आपकी सेहत में सुधार भी ला सकती हैं और आपकी सेहत बिगाड़ भी सकती है। बाएं ओर करवट लेट कर सोने से कई बीमारियां, दिल का रोग, पेट संबन्‍धित खराबी, थकान, पेट का फूलना और अन्य शारीरिक समस्याएं हल हो सकती हैं। वहीं अगर आप बाएं की जगह दाएं ओर करवट ले कर सोती हैं, तो शरीर से टॉक्सिन ठीक प्रकार से फ्लश नहीं हो पाएगी, जिस वजह से पेट की बीमारी, दिल पर ज्‍यादा लोड पड़ना और हार्ट रेट का बढ़ना हो सकता है...


ये हैं फायदे

1. बाएं ओर करवट लेने से शरीर में जमा टॉक्‍सिन धीरे धीरे लसीका तंत्र दृारा निकल जाता है। इसलिये खाना हज्म हो जाये इसके लिये मुनासिब ये है कि बायीं करवट सोया जाये ताकि लीवर और हाजमे के सिस्टम पर कोई दबाव न पड़े और वह अपना काम आसानी से कर ले।

2. हमारे शरीर से गंदगी निकालने का सबसे ज्‍यादा कार्य लीवर और किडनियों का ही है। इसलिये सोते समय इन पर ज्‍यादा प्रेशर नहीं डालना चाहिए।

3. बाएं ओर सोने से पेट और अग्न्याशय अपना काम जो कि खाना पचाने का कार्य है, उसको आराम से करने लगते हैं। अग्न्याशय से एंजाइम सही समय पर निकलना शुरु होता है। खाया गया भोजन भी आराम से पेट के जरिए नीचे पहुंचता है और आराम से खाना हज़म हो जाता है। जिन लोगों का हाज्मा गड़बड़ रहता है और बदहजमी की शिकायत रहती है, उन्हें डाक्टर बायीं करवट लेटने की सलाह देते हैं।
4. बाएं करवट सोने से दिल पर जोर कम पड़ता है क्‍योंकि उस समय दिल तक खून की सपलाई काफी अच्‍छी मात्रा मे हो रही होती है। अब अगर दिल स्‍वस्‍थ रहेगा तो खून व आक्‍सीजन की सप्‍लाई आसानी से शरीर और दिमाग तक भी पहुंचेगा।

5. इस पोजीशन में सोने पर जो पेट का एसिड होता है, वह ऊपर की जगह नीचे की ओर ही जाता है, जिससे एसिडिटी और सीने की जलन नहीं होती।

6. हम सभी जानते हैं कि लीवर बाइल जूस निकालता है और गॉल ब्‍लैडर अच्‍छी पाचन क्रिया के लिये जिम्‍मेदार है। बाएं ओर करवट कर के सोने से ये दोनों ही अपने काम ठीक प्रकार से करते हैं। इससे ज्‍यादा बाइल जूस निकलता है जिससे वसा ठीक प्रकार से पचता है। साथ ही लीवर में फैट जमा नहीं हो पाता।

Updated : 2016-05-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top