Top
Home > Archived > सिंहस्थ ने बढ़ाए देशी घी के दाम

सिंहस्थ ने बढ़ाए देशी घी के दाम

दाल 150 और शक्कर भी 40 रुपए किलो पर पहुंची

ग्वालियर। उज्जैन में सिंहस्थ मेले में साधु-संतो ने आना शुरू कर दिया है। मेले का असर ग्वालियर में भी देखने को मिलने लगा है। सिंहस्थ मेले के लिए ग्वालियर से देशी घी की मांग शुरू हो गई है। मांग अधिक और उत्पादन कम होने के कारण शहर में देशी घी के दामों में जबरदस्त उछाल आ गया है। देशी घी के टीन के दाम 5000 रुपए से ऊपर पहुंच गए हैं। जिसमें और तेजी आने की संभावना है। वहीं दूसरी ओर शक्कर, दाल और मसाले भी महंगे हो गए हैं।

सिंहस्थ मेले में निर्धारित तिथि के अनुसार पहला स्नान 22 अप्रैल को होना है। इस स्नान के लिए अभी से साधु-संतो ने पहुंचना शुरू कर दिया है। वहीं लाखों श्रद्धालुओं के पहुंचने की भी संभावना है। इन सभी के लिए उज्जैन से शहर के दाल बाजार में देशी घी की जबरदस्त मांग व्यापारियों के पास आने लगी है। इस घी का उपयोग साधु संतो के पूजा पाठ और श्रद्धालुओं के लिए भोजन आदि में होना है। मांग में तेजी आने के कारण देशी घी के दाम प्रति टीन 200 से 300 रुपए तक बढ़ गए हैं। व्यापारियों के अनुसार अगर मांग और बढ़ी तो यह आंकड़ा 500 से 700 रुपए टीन तक जा सकता है। वहीं फैक्ट्रियों में उत्पादन भी सीमित होने के कारण बाजार में देशी घी की कमी बनी हुई है।

उधर स्टॉक कम और मांग अधिक होने के कारण दालों में एक बार फिर से तेजी आ गई है। दाल बाजार में तुअर दाल 120 रुपए किलो से उछलकर 140 से 150 रुपए किलो के स्तर पर पहुंच गई है। जिसमें अभी और तेजी आने की संभावना है। वहीं 25 से 27 रुपए किलो बिकने वाली शक्कर भी 40 रुपए किलो हो गई है।

देशी घी का ब्राण्ड पूर्व भाव नए भाव
नोवा 4250 5000
कृष्णा यूपी 4900 5200
हरदयाल 4700 5000
उमंग 4900 5100
अमूल 4900 5100

मसाले भी हुए महंगे
मौसम की बेरूखी के चलते मसालों में भी तेजी आ गई है। हाजिर बाजार में धनियां, जीरा, लाल मिर्च, मूंगफली दाने और रिफाइंड तेल महंगे हो गए हैं। कारोबारियों के अनुसार मसालों में अभी और तेजी आ सकती है।

मसाले पूर्व भाव नए भाव
जीरा 180 200
धनियां 110 140
लाल मिर्च 160 200
मूंगफली दाना 80 120

'सिंहस्थ के कारण देशी घी में मांग तेज आ रही है। देशी घी का एक टीन 300 रुपए तक महंगा हो गया है। अभी इसमें और तेजी आएगी।Ó

गुलाबचन्द
देशी घी व्यापारी

'अमूल कम्पनी ने देशी घी के दाम बढ़ा दिए है। जिससे अन्य ब्राण्डों में भी तेजी आ रही है। यह तेजी आगे भी कायम रहेगी।'

अश्विनी सोमानी, देशी घी के व्यापारी

'गर्मीयों में मांग निकलने और स्टॉक कम होने के कारण तुअर दाल एक बार फिर महंगी हो गई है। दालों के फिलहाल कम होना मुश्किल हैं।'

सुरेश खत्री, दाल के थोक व्यापारी

Updated : 2016-04-07T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top