Home > Archived > दहेज की खातिर मेरी बेटी को मार डाला

दहेज की खातिर मेरी बेटी को मार डाला

लड़की के परिजनों ने ससुराल पक्ष पर लगाया आरोप

दतिया। मेरा दमाद शराबी था, उसे जुआ खेलने की भी आदत थी। इसी कारण वह आए दिन मेरी लड़की को दहेज की खातिर प्रताडि़त करते थे, उसके साथ आए दिन मारपीट भी होती थी मुझे शक है कि इसी को लेकर लड़की के ससुराल वालों ने मेरी लड़की व नातिन को मार कर टांग दिया, उक्त बात मृतिक दीपा के चाचा अजमेर सिंह ने ससुराल पक्ष पर आरोप लगाते हुए कही। उन्होंने बताया कि दीपा की शादी को 22 माह ही हुए थे, शादी के 5-6 माह बाद ही ससुराल वाले दहेज की मांग करने लगे न देने पर घर से भगा दिया गया। 8 माह पहले पंचायत के माध्यम से दीपा के ससुराल वाले यह कहकर ले गए कि अब कभी आपकी बच्ची को परेशान नहीं करेंगे।

दो दिन पहले दीपा का फोन पिता के पास आया था कि यह लोग पुन: मारपीट कर रहे हैं हमें लिवा ले जाओ और आज मेरी बच्ची से इस हालत में मिली, कि मैं उससे बात भी नहीं कर पाया। मुझे दीपा व उसकी बच्ची की फाँसी लगाने की सूचना पुलिस द्वारा प्राप्त हुई और सीधे मैं जिला चिकित्सालय पहुँचा, जहाँ ससुराल पक्ष के लोग घटना स्थल से नदारत थे। ज्ञात हो कि 6 मार्च की सुबह 11:50 के आसपास ग्राम बरोह निवासी 22 वर्षीय दीपा पत्नी सतीश लोधी ने पहले अज्ञात कारणों के चलते अपनी 6 माह की पुत्री कुमारी अमृता को फांसी लगाई उसके बाद वह स्वयं फांसी पर झूल गई।

घटना की जानकारी मृतिक के चचिया ससुर मोहन लोधी ने पुलिस को दी थी, जिससे पुलिस मौके पर पहुंची और शव को उतरवाकर पोस्टमार्टम हेतु जिला चिकित्सालय भिजवाया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया।

Updated : 2016-03-08T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top