Home > Archived > नए कारोबार के लिए नेतृत्व क्षमता जरूरी

नए कारोबार के लिए नेतृत्व क्षमता जरूरी

नए कारोबार के लिए नेतृत्व क्षमता जरूरी
X

ग्वालियर। किसी भी व्यवसाय या कारोबार को शुरू करने के लिए इनोवेटिव आइडियाज के साथ-साथ नेतृत्व क्षमता का होना भी जरूरी है। यदि इनमें से एक चीज भी कम है तो कारोबार को चलाने में बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में करोबार को शुरू करने और बढ़ाने में ये दोनों ही चीजे होना जरूरी हैं।

यह बात शुक्रवार को आईटीएम विवि के लियोनार्दो द विंची ब्लॉक के उस्ताद अलाउद्ीन खां सभागार में स्टार्ट अप योजना एवं एंटरप्रिन्योरशिप पर आयोजित चतुर्थ इनोवेटिव समिट में बिजनेस और उद्योगजगत के विज्ञान वक्ताओं ने कही। आईटीएम विवि के स्कूल ऑफ बिजनेस की तरफ से आयोजित इस समिट में छात्र-छात्राओं के अलावा बड़ी संख्या में ऐसे लोगों ने भागीदारी की जो बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। समिट में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए एक्टिव विज सोल्यूशंस प्रा.लि. मुंबई के चैयरमैन सुभा बंजेरा ने देश के तमाम सफलतम उद्यमियों का उदाहरण देते हुए कहा कारोबार को शुरू करने के लिए नेतृत्व का गुण बेहद जरूरी है।

समिट में आईटीएम विवि के डॉ. दौलत सिंह चौहान ने भी अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि किसी भी उद्यमी के लिए इनोवेटिव आइडियाज का होना जरूरी है ही लेकिन उतना ही महत्वपूर्ण है उन आइडियाज को लागू करना। कार्यक्रम में इंडीड कम्युनिकेशन प्रा.लि. के को फाउडंर एवं निदेशक पी श्रीनिकेत ने स्टेट ऑफ मांइड, इनोवेशन प्लान बिजनेस नीड ऑफ कन्ज्युमर, कीप इनोवेटिव एब्रीडे, इनोवेशन प्लस, विजन प्लस कमिटमेटं जैसे विषयों पर चर्चा की। इससे पूर्व कुलपति प्रो. वंदना कुशवाह, कुलाधिपति के सलाहकार डॉ. आर डी गुप्ता, स्कूल ऑफ बिजनेस की डीन प्रो. वंदना भारती ने वक्ताओं के साथ दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के अंत मे समन्वयक प्रो. विवेक पचौरी ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Updated : 2016-03-05T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top