Top
Home > Archived > सात व आठ को मनेगा नवसंवत्सर महोत्सव

सात व आठ को मनेगा नवसंवत्सर महोत्सव

सात व आठ को मनेगा नवसंवत्सर महोत्सव

ग्वालियर। भारतीय संस्कृति एवं परम्परा को बढ़ावा देने तथा देश की युवा पीढ़ी को भारत की परम्पराओं से अवगत कराने के उद्देश्य से नगर निगम ग्वालियर द्वारा सामाजिक संस्था संस्कार भारती के सहयोग से प्रतिवर्ष हिन्दू नववर्ष नवसंवत्सर महोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इसी क्रम में इस वर्ष सौम्यनाम नवसंवत्सर महोत्सव सात व आठ अप्रैल को फूलबाग स्थित जल विहार परिसर में मनाया जाएगा, जिसमें अनेक लोक परम्पराओं का आयोजन होगा।

महापौर विवेक शेजवलकर ने बताया कि देश की युवा पीढ़ी को भारतीय संस्कृति व संस्कारों से परिपूर्ण करने के लिए देश में वर्ष भर विभिन्न त्यौहार व सांस्कृतिक आयोजन होते हैं। इसी तारतम्य में हिन्दू नववर्ष का प्रारंभ गुड़ी पड़वा से होता है। इसी के उपलक्ष्य में नवसंवत्सर महोत्सव के अंतर्गत सात अप्रैल को मन्मथ नाम संवत्सर का विदाई महोत्सव एवं आठ अप्रैल को सौम्यनाम नवसंवत्सर का स्वागतोत्सव का आयोजन किया जाएगा।

मन्मथ नाम संवत्सर विदाई महोत्सव सात को
मन्मथ नाम संवत्सर विदाई महोत्सव का शुभारंभ सात अप्रैल को शाम सात बजे से दीप प्रज्जवलन से किया जाएगा। इसके उपरांत 7.05 बजे ध्येय गीत, 7.10 बजे मंजरी काव्य गोष्ठी, रात्रि 8 बजे संगीत सरिता एवं 8.20 बजे से जुगलबंदी अपर्णा देवधर-अबोली सुलाखे मुम्बई (सितार-सरोद) तथा 8.55 बजे तबला की प्रस्तुति पंडित कुमारलाल वाराणसी द्वारा दी जाएगी। रात्रि 9.30 बजे कृष्णायन कथक डॉ. सुचित्रा हरमलकर इन्दौर द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।

सौम्यनाम नवसंवत्सर स्वागतोत्सव आठ को
सौम्यनाम नवसंवत्सर स्वागत कार्यक्रम आठ अप्रैल को प्रात: 4.40 बजे संकीर्तन यात्रा से प्रारंभ होगा, जिसमें प्रात: 4.58 बजे गीत (ज्योति कलश छलके), 5.01 पर दीप प्रज्जवलन, 5.03 बजे ध्येय गीत, 5.10 बजे प्रार्थना जैन वाणी, वैदिक ऋचाएं, 5.20 बजे संकल्प गीत, 5.30 बजे बांसुरी वाद पंडित चेतन जोशी नई दिल्ली, 5.55 बजे वैदिक मंत्रोच्चार, 6 बजे भगवान भुवन भास्कर को अघ्र्यदान शहरवासियों द्वारा किया जाएगा। इसी के साथ सुबह 6.02 बजे महापौर द्वारा शुभकामना संदेश दिया जाएगा। सुबह 6.07 बजे आगोमोनी देवी आराधना, 6.22 बजे योग पिरामिड, 6.40 बजे से सांस्कृतिक प्रस्तुतियां गरबा, सरस्वती वंदना, लोक वाद्य कचहरी आदि का आयोजन होगा।

लोक कला महोत्सव
नवसंवत्सर स्वागोत्सव की अगली श्रृंखला में आठ अप्रैल को शाम लोककला महोत्सव का आयोजन होगा, जिसमें 7 बजे दीप प्रज्जवलन, 7.05 बजे ध्येय गीत, 7.10 बजे छाउ नृत्य सराईकला पंडित गोपाल दुबे, 7.50 बजे महाराष्ट्र की लोकधारा प्रशांत चव्हाण समूह, 8.05 बजे बजाशाल नृत्य कालाहांडी विजन कालाहांडी द्वारा एवं 8.45 बजे कथक नृत्य श्रीमती समीक्षा शर्मा नई दिल्ली द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।

Updated : 2016-03-31T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top