Top
Home > Archived > हाईस्कूल परीक्षा - सर्चिंग के दौरान बने 172 प्रकरण

हाईस्कूल परीक्षा - सर्चिंग के दौरान बने 172 प्रकरण

चार निलंबित एवं चार को कारण बताओ नोटिस

भिण्ड। बोर्ड हाईस्कूल की परीक्षा में आज जहां निरीक्षण के दौरान विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर 172 नकल के प्रकरण बने हैं। वहीं जिला प्रशासन की नकल विरोधी मुहिम की सख्त कार्रवाई के डर से 10 हजार 882 छात्र अनुपस्थित रहे। वहीं 46 फर्जी परीक्षार्थियों के विरुद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज किए हैं। जिसमें 16 परीक्षार्थियों को गिरफ्तार कर पुलिस रिमाण्ड पर भेजा गया है। जिला प्रशासन की जबरदस्त कार्रवाई से हड़कंप मचा है और आगामी प्रश्न पत्रों में अनुपस्थित छात्रों की संख्या बढ़ सकती है।

जिला प्रशासन द्वारा नकल विरोधी मुहिम के तहत सिर्फ परीक्षार्थियों पर कार्रवाई नहीं की गई बल्कि परीक्षा केन्द्रों पर तैनात केन्द्राध्यक्ष व पर्यवेक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई भी की गई है। जैन महाविद्यालय भिण्ड के केन्द्राध्यक्ष दाताराम जाटव व मनोज कुमार गुप्ता, विवेकानंद एवं कैलाश सिंह को निलंबित कर दिया है। गायत्री महाविद्यालय भिण्ड पर सर्चिंग में लगे अधिकारी कर्मचारी जयवीर, विकास पचौरी, पंकज सोनी एवं राकेश सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।जिलाधीश इलैया राजा टी ने बताया कि हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा के अंतर्गत जिले में बनाए गए परीक्षा केन्द्रों पर 51 हजार 129 परीक्षार्थियों में से 40 हजार 244 परीक्षार्थियों ने आज प्रथम प्रश्न पत्र में उपस्थित रहे। साथ ही 10 हजार 882 परीक्षार्थी अनुपस्थित पाए गए। नकल की सर्चिंग के दौरान 172 प्रकरण बनाए गए। इस परीक्षा के अंतर्गत जैन महाविद्यालय भिण्ड में लगाए गए एसीएस दाताराम जाटव एवं मनोज कुमार गुप्ता, विवेकानंद एवं कैलेाश सिंह को निलंबित कर दिया गया है। इसी प्रकार गायत्री महाविद्यालय भिण्ड के सर्चिंग में लगे अधिकारी-कर्मचारी जयवीर, विकास पचौरी, पंकज सोनी एवं राकेश सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है।

हाईस्कूल बोर्ड परीक्षाओं का पर्यवेक्षण जिलाधीश इलैया राजा टी एवं पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन द्वारा निरंतर किया गया। साथ ही परीक्षाओं में लगाए गए अतिरिक्त जिलाधीश आरपी भारती, जिले के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार, नायब तहसीलदार और आब्जर्वरों ने परीक्षा को अंतिम रूप देने की कार्रवाई की। इसीप्रकार सर्चिंग टीम में लगाए गए अधिकारी/ कर्मचारी ने छात्रों की परीक्षा केन्द्रों के बाहर नकल की जांच की। परीक्षा केन्द्रों पर तैनात किए गए केन्द्राध्यक्ष द्वारा हाईस्कूल बोर्ड की परीक्षा कराने की कार्रवाई माध्यमिक शिक्षा मण्डल भोपाल एवं जिला प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों के अंतर्गत सुनिश्चित की।
संयुक्त जिलाधीश अनुज रोहतगी द्वारा भिण्ड शहर के शा. उत्कृष्ट उमावि क्र. एक, शा. उमावि क्र. दो, गायत्री महाविद्यालय, मां कृष्णादेवी महाविद्यालय एवं जैन महाविद्यालय पर बनाए गए हाईस्कूल परीक्षा केन्द्रों का सघन भ्रमण कर परीक्षा दिलाने की कार्रवाईयों को अपनी सर्चिंग टीम के साथ अंतिम रूप दिया।

भिण्ड जिले में जिन परीक्षा केन्द्रों पर नकल प्रकरण बने हैं उनमें सर्वाधिक 10 नकल के प्रकरण चन्द्रशेखर उमावि फूफ में बने हैं। इसके साथ ही एमपी डीएड कालेज जलपुरा अटेर, सिद्धिविनायक डीएड कालेज भिण्ड में नौ-नौ नकल के प्रकरण दर्ज हुए हैं। इसी क्रम में एलबीएस डीएड कालेज मुरलीपुरा, नाथूराम डीएड कालेज लाड़मपुरा, दीनदयाल डंगरोलिया डीएड कॉलेज लाड़मपुरा में आठ-आठ परीक्षार्थी नकल करते हुए पाए गए हैं। इसके अलावा अन्य परीक्षा केन्द्रों पर भी नकल के प्रकरण दर्ज हुए हैं। इस तरह कुल मिलाकर भिण्ड ब्लाक में सर्वाधिक 81, अटेर ब्लॉक में 57, मेहगांव ब्लाक में 22, गोहद ब्लॉक में 10, रौन ब्लॉक में दो व लहार में नकलचियों की संख्या निरंक रही।

Updated : 2016-03-03T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top