Top
Home > Archived > सौर ऊर्जा से जगमग होगी केन्द्रीय जेल!

सौर ऊर्जा से जगमग होगी केन्द्रीय जेल!

ग्वालियर व चम्बल संभाग की सभी जेलों में सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने की कवायद शुरू

ग्वालियर। प्रदेश में सोलर एनर्जी वैकल्पिक ऊर्जा उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार महती प्रयास कर रही है। इसी क्रम में प्रदेश के सभी शासकीय कार्यालयों में सोलर एनर्जी लगाने की कवायद शुरू हो गई है। इसी कड़ी में ग्वालियर, मुरैना, शिवपुरी, भिण्ड सहित कई जिलों की जेलों में सौर ऊर्जा लगेगी।

केन्द्रीय जेल से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि राज्य ऊर्जा विकास निगम ने सभी जेलों में सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने का कार्य एक निजी कम्पनी को सौंपा है। कम्पनी ने प्राथमिक चरण में कारागारों में सोलर प्लेट्स व एलईडी लगाने का काम आरंभ कर दिया है। साल के अंत तक पूरे प्रदेश की जेलों में सौर ऊर्जा संयंत्र व एलईडी लगाने का कार्य पूरा कर लिए जाने की संभावना जताई जा रही है। पूरे प्रदेश की जेलों में स्थापित होने वाले इन सौर ऊर्जा संयंत्रों की कुल विद्युत उत्पादन क्षमता 305 केडब्ल्यूपी (किलोवाट एट पीक) होगी, जो इनकी बिजली आवश्कता को पूरा करने में बेहद मददगार साबित होगी।

जेल प्रशासन के मुताबिक सौर बिजली जेल में सुरक्षा के लिहाज से बेहद जरूरी है। नियमित बिजली आपूर्ति बाधित होने पर अंधेरे में बंदियों की गतिविधियों पर नजर रखना मुश्किल होता है। बिजली गुल होने पर सीसीटीवी कैमरे भी सौर ऊर्जा की मदद से बिना बंद हुए काम करते रहेंगे।

Updated : 2016-03-28T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top