Top
Home > Archived > सहायता राशि को परेशान हो रहीं सैंकड़ों प्रसूताएं

सहायता राशि को परेशान हो रहीं सैंकड़ों प्रसूताएं

संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल से हुई अव्यवस्था

बहादुरपुर। खंड चिकित्सालय के अंतर्गत सैंकड़ों प्रसूताएं, प्रसव सहायता राशि नहीं मिलने से परेशान हैं। इन महिलाओं के प्रसव को दो महीने तक बीत गए हैं, लेकिन इनके बैंक खातों में राशि नहीं पहुंची है। जिसके लिए प्रसूताएं बैंकों के चक्कर लगा रही हैं।

महिलाओं के खातों में यह राशि संविदा स्वास्थ्यकर्मियों के 18 दिन की हड़ताल पर चले जाने के कारण ट्रांसफर नहीं हो सकी है। वहीं राशि नहीं मिलने का कारण जानने अस्पताल पहुंच रहे प्रसूताओं के परिजनों को प्रबंधन द्वारा सही जानकारी नहीं दी जाती है। अलबत्ता उन्हे बैंक पहुंचकर खाते चेक करने की सलाह दे देते हैं, महिलाएं नवजात बच्चों को लेकर बैंक पहुंचती हैं। जहां से खाते में राशि नहीं पहुंचने के कारण उन्हे निराश लौटना पड़ता है। संविदा कर्मियों की 18 दिन की हड़ताल के दौरान 30 प्रसव अकेले बहादुरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर हुए हैं।

इसके अलावा खंड चिकित्सालय के अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों पर हुए प्रसवों की संख्या सैंकड़ों में है। ग्राम गोरा चक निवासी बिन्नीबाई कुशवाह ने बताया कि उनके प्रसव को दो माह का समय बीता जा रहा है, तो ग्राम सुमेर की पूजा केवट ने बताया कि उन के प्रसव को एक माह से अधिक समय हो गया। इस दौरान वह बैंक के दर्जनों चक्कर काट चुकी हैं। कई प्रसूताएं ऐंसी हैं जिनका घर बैंकों से पंद्रह किलोमीटर की दूरी पर दूर-दराज के गांवों में है। ऐसे में इन महिलाओं के राशि चेक करवाने बैंक आने पर ही सैंकड़ों रुपये व्यर्थ जाया हो गये हैं।

इनका कहना है:

'पिछले दिनों हड़ताल से लौटने के बाद 40 प्रसूताओं के बैंक खातों में राशि अंतरण के लिये लिस्ट बैंक भेज दी है। सोमवार तक उनके खातों में राशि पहुंच जाएगी। जल्द ही अन्य प्रसूताओं के खातों में भी राशि अंतरण करवा दिया जाएगा।'

गोपाल गोस्वामी
एकाउन्टेंट,
बीएमओ कार्यालय बहादुरपुर

Updated : 2016-03-26T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top