Latest News
Home > Archived > मण्डी में आवक बढ़ते ही बढ़ीं किसान की परेशानियां

मण्डी में आवक बढ़ते ही बढ़ीं किसान की परेशानियां

डाक बोली के बाद समझौता से हुई तुलाई

अशोकनगर| गल्ला मण्डी में बढ़ती आवक के साथ किसानों की परेशानियां शुरू हो गईं हैं। मंगलवार को मण्डी में अनाज बेचने आए एक किसान को अपनी उपज बेचने के लिए घण्टों तक व्यापारिक फर्म पर अनुनय-विनय करना पड़ा। तब कहीं जाकर उसके अनाज की तौल शुरू हो सकी। इसके लिए किसान को निर्धारित डाक बोली के दामों से कम कम राशि पर समझौता करना पड़ा।

इस संबंध में बताया गया है कि ग्राम पिपनावदा निवासी कृषक निर्मल सिंह खुली ट्राली में धनिया भरकर मण्डी में आया हुआ था। जैसे ही मण्डी में डाक बोली शुरू हुई तो उनके धनिया की बोली 5900 रुपये प्रति क्विंटल बोली गई। यह धनिया व्यापारिक फर्म भण्डारी मगनलाल द्वारा खरीदा गया। जब किसान मण्डी में उनके फड़ क्रमांक 35 पर धनिया तुलवाने पहुंचा तो फर्म पर मौजूद जिम्मेदारों ने तुलाई करने से इंकार कर दिया। परेशान किसान ने जब इसकी शिकायत मण्डी समिति के कर्मचारियों से की तो भी किसान की परेशानी दूर नही हुई।

इसी दौरान किसान के विवाद होने के खबर लगते ही भाकिसं के पदाधिकारियों के साथ कृषक मण्डी सचिव के पास पहुंचा तब उन्होंने व्यापारिक फर्म और किसान के बीच समझौता कराने का प्रयास किया। इस दौरान हुए समझौते में किसान को 5 क्विंटल धनिया तो डाक बोली अनुसार तुलवाने और शेष धनिया को प्रति क्विंटल के 200 रुपये कम के मान से तुलवाने पर समझौता करना पड़ा। इस दौरान किसान को घण्टों परेशान होना पड़ा। विरोध में उतरे लोगों ने कलेक्ट्रेट में की शिकायत

Updated : 2016-03-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top