Top
Home > Archived > बांसी में 28 मार्च तक पेयजल आपूर्ति की जायेगी बहाल

बांसी में 28 मार्च तक पेयजल आपूर्ति की जायेगी बहाल

सर्राफा बाजार में आयोजित हुयी कार्यशाला में हुआ विचार

20 मार्च को मनाया जायेगा विश्व गौरैया दिवस

ललितपुर। लुप्त होती गौरेया प्रजाति को बचाने के लिये गौरेया बचााओं अभियान व संरक्षण के तहत जन सहयोग के सहयोग के लिये आज वन विभाग तथा लायन्स क्लब ललितपुर ग्रेटर के संयुक्त निर्देशन में सर्राफा बाजार में एक कार्यशाला का आयोजन किया।

जिसमें मुख्य आतिथ्य जिलाधिकारी डा. रूपेश कुमार रहे। कार्यशाला में कोर्ट मैनेजर अनूपा राय ने कहा कि जनसहभागिता से ही गायब होती हुई गौरैया की आवाज को फिर वापस लाया जा सकता है। सभी लोग अपने छतों पर चिडिय़ों के पीने हेतु पानी, खाने हेतु दाना तथा घोंसलो का प्रबंध करें, साथ ही पालीथीन के प्रयोग को पूर्णतया प्रतिबंधित किया जाये। बुन्देलखण्ड नागरिक मोर्चा संयोजक भूपेन्द्र जैन चाचा ने कहा कि गौरैया के संरक्षण को हमें अपने निजी जीवन में शामिल करना होगा, तभी इस मिशन को गति मिल सकेगी। समाज में वह लोग जो किसी वर्ग विशेष का प्रतिनिधित्व करते हैं उनको इसमें आगे बड़कर काम करना होगा तभी ज्यादा से ज्यादा लोग इस अभियान से जुड़ सकेगें। कार्यक्रम संयोजक पुष्पेन्द्र द्वारा गौरैया बचाने के साथ ही अन्य पक्षियों के संरक्षण पर भी जोर दिया गया तथा इस अभियान में सभी के सार्थक प्रयास की जरूरत बतायी गई। नपाध्यक्ष सुभाष जयसवाल ने कहा कि हम सभी बीस मार्च को विश्व गौरैया दिवस मनाने जा रहे हैं। हम सब को गौरैया संरक्षण हेतु प्रयास करने के साथ ही पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिए भी प्रयास करना होगा, तभी यह कार्यक्रम सफल हो पायेगा। डीएफओ वीके जैन ने कहा कि गौरैया का संरक्षण उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के प्राथमिकता के कार्यक्रमों में से एक है।

उन्होने बताया कि ग्यारह मार्च को प्राथमिक तथा जूनियर हाई स्कूल में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को गौरैया संरक्षण हेतु शपथ भी दिलायी जायेगी। बताया कि जिलाधिकारी के मार्गदर्शन में यह कार्यक्रम सफलता पूर्वक आयोजित किया जा रहा है तथा सभी के प्रयास से तीन हजार से अधिक घोसलो की स्थापना कर ललितपुर को प्रदेश में प्रथम स्थान पर लाने के प्रयास किये जा रहे हैं। जिलाधिकारी डा.रूपेश कुमार ने कहा कि जिन लोगों ने इस अभियान में अपना सक्रिय योगदान दिया है वह सब बधाई के पात्र हैं। उन्होने गौरैया सहित अन्य दुर्लभ पक्षियों के संरक्षण पर जोर देते हुये पक्षियों के प्राकृतिक आवासों के विकास पर जोर दिया तथा यह भी कहा कि इस मिशन को पूरा करने के लिए मानवीय संवेदना को जगाने की आवश्यकता है। उन्होने पर्यावरण संतुलन तथा प्रदूषण नियंत्रण पर जोर देते हुये पक्षियों के अनुकूल इको सिस्टम के विकसित किये जाने की बात कही।

इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा लायन्स क्लब सहित अन्य लोगों को घोसले वितरित किये गये। संचालन संगीता अग्रवाल द्वारा किया गया तथा आभार सर्राफा कमेटी के पदाधिकारी उदयचन्द्र जैन द्वारा व्यक्त किया गया। इस दौरान नपाबाइका की अध्यापिका, छात्राओं के साथ ही लायन्स क्लब ललितपुर ग्रेटर अध्यक्ष सिद्धेश्वर जमौरया, सचिव सतीश जैन, अनिल जैन नीलू, जितेन्द्र जैऩ, कैलाश अग्रवाल, सुरेशबाबू जैन, आलोक टड़ैया, सर्वेश जैन, कैलाश जैन, महेन्द्र जैन, गौतम राय, सुमित खरे, दीपक अग्रवाल, ज्योति कामरा, नीता जमौरया, मटुआ राय, मनीषा जैन, श्वेता खरे, स्वदेश अग्रवाल, बर्ड शिविर ग्रुप के सदस्य पुष्पेन्द्र जैन, स्वतंत्र व्यास, अज्जू बाबा, गौरव जैन, फिरोज इकबाल, वरिष्ठ पत्रकार सुरेन्द्र नारायण शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Updated : 2016-03-14T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top