Top
Home > Archived > दावा: चार वर्ष में चमका देंगे वार्ड

दावा: चार वर्ष में चमका देंगे वार्ड

अरविन्द माथुर


हमने यह संकल्प लिया है कि अगले चार वर्ष में अपने वार्ड की लगभग सभी समस्याओं का समाधान कर इसे चमका देंगे। फिलहाल सफाई, सीवर आदि की समस्या है लेकिन हम इसके निराकरण के लिए भरपूर प्रयास कर रहे हैं, विश्वास है कि इसमें हमें सफलता अवश्य मिलेगी। यह दावा है वार्ड 17 की पार्षद अनीता जगराम कुशवाह का।

पहली बार पार्षद चुनकर आईं श्रीमती कुशवाह ने स्वदेश से चर्चा में बताया कि यूं तो उनके वार्ड में बिजली, पानी की बेहतर स्थिति है, लेकिन सीवर और सफाई को लेकर कुछ समस्या अवश्य है। इसके पीछे क्या कारण है यह पूछने पर उन्होंने बताया कि कांच मील, आरा मील और इसके आसपास के क्षेत्र में डेयरियां होने से नालियों में गोबर और गंदगी बहती है जिससे नालियों के साथ ही सीवर लाइनें भी जाम हो जाती हैं। हालांकि इसके लिए हमने निगमायुक्त व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत कर समस्या के निराकरण के लिए कहा था लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ। अब हम प्रयास कर रहे हैं कि लोगों को इस समस्या से निजात मिल जाए।

नहीं रहने देते गंदगी
एक प्रश्न के जवाब में पार्षद श्रीमती कुशवाह ने बताया कि सफाई कर्मचारियों की कमी के कारण नियमित सफाई में परेशानी आती है, लेकिन जहां भी गंदगी और कूड़ा-कचरा पड़े होने शिकायत मिलती है हम स्वयं जाकर वहां सफाई कराते हैं। यह समस्या मुख्य रूप से कांच मील और आरामील क्षेत्र में अधिक है।

भरपूर मिल रहा है पानी
पार्षद श्रीमती कुशवाह ने कहा कि उनके क्षेत्र में पानी की कोई समस्या नहीं है। पूरे वार्ड में तिघरा का पानी मिल रहा है। जहां कुछ परेशानी है वहां के लिए प्रस्ताव बनाकर दिए हैं। काम भी शुरू हो गया है। कभी अधिक परेशानी आने पर नलकूप से सप्लाई की जाती है। लेकिन पुरानी लाइनें होने के कारण कभी-कभी इनके टूट-फूट जाने पर गंदा पानी आने लगता है। इसके समाधान के लिए प्रयास कर रहे हैं।


हमारे पार्षद

आज हम आपको इस कॉलम के माध्यम से वार्ड 17 का भ्रमण करा रहे हैं। अन्य वार्डों की तरह यहां भी समस्याएं हैं। लेकिन बिजली, पानी और सड़क की स्थिति बहुत हद तक ठीकठाक है। वहीं सीवर और सफाई की समस्या से लोग परेशान हैं। पार्षद का दावा है कि वह अपने वार्ड को अगले चार वर्षो में पूरी तरह चमकाने के साथ ही स्मार्ट बना देंगे।

सड़कों की हालत ठीकठाक
सड़कों के सवाल पर श्रीमती कुशवाह ने कहा कि यदि चमड़ा मील और एक दो क्षेत्रों को छोड़ दिया जाए तो सड़कों की हालत ठीकठाक है। सड़कों को बेहतर बनाने में यहां स्थित नाला और रेलवे का गोदाम है। उन्होंने बताया कि दो करोड़ की लागत से इन क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है और यह काम शुरू हो गया है।

अधिकारियों के भरोसे नहीं बन सकते स्मार्ट
श्रीमती कुशवाह का कहना है कि शहर स्मार्ट बने यह सभी चाहते हैं। लेकिन इसके लिए सामूहिक प्रयास करने होंगे। यदि यह काम अधिकारियों के भरोसे छोड़ दिया गया तो हमें इसमें कभी सफलता नहीं मिलेगी क्यों कि अधिकारी इसके लिए गंभीर नहीं हैं।

ये हैं प्रमुख क्षेत्र
इस वार्ड में प्रमुख रूप से आनंद नगर, कांच मील, न्यू कॉलोनी नम्बर एक और दो, आरा मील, चमड़ा मील, शिक्षा नगर, रेलवे कॉलोनी, केशव बाग आदि शामिल हैं।


क्या कहते हैं क्षेत्रीय नागरिक

हमारे क्षेत्र में डेयरियां होने से नालियां भर जाती हैं। नियमित सफाई नहीं होती तो सीवर लाइन भी जाम हो जाती है। इससे परेशानी होती है। अधिकारी सुनते नहीं हैं। पार्षद ने कहा है कि वह समस्या के समाधान का प्रयास कर रही हैं।
भारत सिंह भदौरिया, कांच मील
सड़कों की हालत ठीकठाक है। डेयरियों के कारण गंदगी और सीवर जाम की समस्या रहती है। पानी समय से मिल रहा है। स्ट्रीट लाइट की स्थिति भी ठीक है।
दीपक कुशवाह, आरा मील
पानी समय पर मिल रहा है। स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था भी है। सफाई नियमित नहीं होती, अधिकारी सुनते नहीं है। पार्षद जी से कहने पर ही समस्या का समाधान हो पाता है।
सत्येन्द्र सिंह सेंगर, कॉलोनी नम्बर दो

Updated : 2016-02-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top