Top
Home > Archived > ताज महोत्सव में रेल प्रदर्शनी दे रही रेलवे का संक्षिप्त परिचय

ताज महोत्सव में रेल प्रदर्शनी दे रही रेलवे का संक्षिप्त परिचय

रेलवे ने सन् 1853 से आज तक के सफर को मॉडलों से किया है प्रदर्शित

आगरा। शिल्पग्राम में ताज महोत्सव 2016 के अवसर पर उत्तर मध्य रेलवे, आगरा मंडल द्वारा रेल प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस प्रदर्शनी में भारतीय रेल के सन् 1853 से आज तक के सफर को प्रदर्शित किये जाने का प्रयास किया गया है।

रेल प्रदर्शनी में वाष्प इंजन को प्रदर्शित किया गया है जो कि रेलवे के पुराने इतिहास को दर्शाता है। इसके पश्चात् सबसे पुराने स्टीम इंजन का लकड़ी से बना 6 फीट का मॉडल प्रदर्शनी की शोभा बढ़ा रहा है। जोधपुर से आया स्टीम इंजन 3456 का मॉडल आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। झांसी वर्कशॉप से आया डीजल इंजन 1660 आईआर का मॉडल रखा गया है। पटियाला से निर्मित लकड़ी का मोटराइज्ड ट्रक, डीजल रेल इंजन कारखाना, वाराणसी द्वारा निर्मित नई तकनीक का ड्यूल कैब वाला 4500 अश्व शक्ति का लोकोमोटिव मॉडल भी प्रदर्शित किया गया। मालगाड़ी के कवर्ड वैगन, ऐतिहासिक के.सी.वैगन, बाक्स एन वैगन आदि भी मालगाड़ी के डिब्बों में शुमार हैं।

स्टील निर्मित पेट्रोल के चार पहिया पुराना एवं दो बोगी या आठ पहिया नया पेट्रोल वाहन भी अपने कलर वैशिष्टय के साथ प्रदर्शित किये गये। इसके अतिरिक्त नई दिल्ली-जयपुर के डबल डेकर का मॉडल भी बच्चों में उत्सुकता का केन्द्र बना हुआ है। शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन का मॉडल हो या ओ.एच.ई. निरीक्षण यान के मॉडलों ने बच्चों का मन मोह रहे हैं। यात्री सुविधाओं को और उन्नत करने के लिए आगरा मंडल द्वारा किये कार्यक्रम एवं उद्घाटन फ्लेक्स बोर्ड के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है। इसके साथ-साथ भारतीय रेल के प्रतीक भोलू (गार्ड) को भी लगाया गया है। रेलों में सफर करते समय किन-किन बातों का ध्यान में रखा जाये, ऐसे अनेक ज्ञानवर्धक फ्लेक्स बोर्ड भी प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्शनी में ट्रेनों से संबंधित तमाम जानकारियां दी गई हैं।

Updated : 2016-02-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top