Top
Home > Archived > हर तीसरी महिला उत्पीडऩ का शिकार

हर तीसरी महिला उत्पीडऩ का शिकार

महिला हिंसा के विरोध में ओढऩी का परचम कार्यक्रम आयोजित

ललितपुर। साई ज्योति संस्थान के तत्वाधान में महिला हिंसा के विरोध में वन विलियन राइजिंग कैम्पेन के अन्तर्गत आज ओढनी का परचम कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय तुवन प्रांगण में किया गया। मुख्य अतिथि के तौर पर नगर पंचायत अध्यक्ष तालबेहट रहीं। जबकि अध्यक्षता महिला थानाध्यक्ष रचना राजपूत ने की। विशिष्ठ अतिथि जिला पंचायत सदस्य ज्योति सिंह रहीं। इसके अलावा अग्रवाल माडवारी महिला मण्डल, संयुक्त व्यापार मण्डल, स्वच्छ एवं सुन्दर ललितपुर जागरूकता अभियान, दीपचन्द्र चौधरी महाविद्यालय, छत्रपति शिवाजी एमएसडी महाविद्यालय पाली-जाखलौन, नेहरू महाविद्यालय, पहलवान गुरूदीन महिला महाविद्यालय ने प्रमुख रूप से प्रतिभाग किया।
मुख्य अतिथि नगर पंचायत तालबेहट अध्यक्ष ने कहा कि पूरी दुनिया की सौ करोड महिलायें आज हिंसा एवं यौन उत्पीडऩ का शिकार है। उन्होंने कहा कि महिला आज जागरूक है तथा वह अपने हक और अधिकारों के लिये लगतार आवाज उठा रही है। सुश्री सोनी ने कहा कि दुनियॉ की हर तीसरी औरत अपने जीवन में कभी न कभी हिंसा या यौन उत्पीडन का शिकार होती है। उन्होने कहा कि ऐसे ही अत्याचारों एवं अन्याय के खिलाफ आज पूरी दुनियॉ की 100 करोड महिलायें उठ खडी हुई है और अपने अधिकारों के लिये आवाज बुलन्द कर रही है।
विशिष्ठ अतिथि जिला पंचायत सदस्य ज्योति सिंह ने कहा कि भू्रण हत्या हमारे समाज के लिये अभिशाप है। कहा कि हमारे समाज में महिलाओं को जन्म लेने का भी अधिकार नही मिल पा रहा है। जानकारी देते हुये कहा कि हरियाणा में 1000 पुरूषों के सापेक्ष महिलाओं की संख्या 750 के लगभग है। उन्होने कहा कि यदि यह अन्तर बढता गया और हमने इसके लिये कुछ सार्थक प्रयास नही किये तो हमारे यहॉ भी यही स्थिति होगी। नेमवि छात्रा ऋचा पुरोहित ने कहा हर घर में बेटी होना चाहिये तथा उसका सम्मान होना चाहिये। अग्रवाल माडवारी महिला मण्डल की अध्यक्ष संगीता अग्रवाल ने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों को जानते हुये उन्हे लेने के लिये ततपर होने की आवश्यकता है। स्वच्छ ललितपुर अभियान ने कहा कि हमें परिवारों को चलाने के लिये एक गाडी के दो पहियों की तरह काम करना होगा। कहा कि महिलाओं एवं पुरूषों समानता पर लाने के लिये काम करने की अवश्यकता है। कहा कि हम दोनो एक दूसरे के पूरक है।
अध्यक्षता कर रहीं महिला थानाध्यक्ष रचना राजपूत ने कहा कि हमेें स्वयं में जागरूक होना की आवश्यकता है। हम अपनी अधिकारों के प्रति सजग हो तथा किसी भी प्रकार की हिंसा एवं अन्याय को सहन करने की अपेक्षा उसका डट कर प्रतिकार करें। उन्होने कहा कि संविधान में महिलाओं को पुरूषों के समान अधिका दिये गये है और किसी भी प्रकार की हिंसा को रोकने के लिये जरूरी कानूनी प्रावधान किये गये है।
साई ज्योति संस्था सचिव अजय श्रीवास्तव ने कहा कि दूरी दुनिया की 100 करोड महिलाओं का हिंसा कि विरोध में यह सामूहिक अभियान है जिसके अन्तर्गत प्रतिवर्ष हम एकत्र होकर महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा एवं अन्याय हो समाप्त करने एवं आपसे प्रेम भाईचारा एवं समानता को विकसित करने के लिये सांकेतिक प्रदर्शन किया जाता हैं। उन्होने कहा कि दैनिक जागरण ललितपुर ने आज स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ सहभागिता के नये अध्याय की शुरूआत ललितपुर में की है। यह प्रयास प्रदेश के अन्य कुछ जनपदों में पूर्व में किये गये है परन्तु इस प्रकार का मीडिया का सहयोग महिला हिंसा जैसे मुददे को व्यापकता से प्रसारित प्रचारित करने में सहायक सिद्ध होगा। इस दौरान परिवार परामर्श केन्द्र सदस्य सुधा कुशवाहा, कमलाकर शर्मा, राजेन्द्र प्रकाश श्रीवास्तव, रमन शर्मा, राजीव मिश्रा, रोहित बैन्जामिन, विनय श्रीवास्तव,अजय मिश्रा, निसार खान, संजू अहिरवार, कमलेश कुशवाहा, कमलेश अहरिवार, राजेश राय, सिद्वगोपाल सिंह, अजय प्रताप, लखन सहरिया, ब्रजेन्द्र सेन, ज्ञान सिंह, मलखान सिंह, हीरालाल, ब्रषभान सिंह, रमेश श्रीवास्तव, पूनम परिहार, रचना, प्रीति सहरिया, वीरेन्द्र सहरिया, भुमानी सिंह, देवेन्द्र सिंह, कल्पना जायसबाल, अर्चना बीके अग्रवाल, शक्ति पाठक, पूजा तिवारी, आरती तिवारी, सुमिन्दर कौर, जशलीन, श्यामबाई ज्योति कामरा, रेखा जैन, डा.सोनल श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे। संचालन महेश रिछारिया ने व आभार पत्रकार संजीव बजाज द्वारा किया गया।

Updated : 2016-02-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top