Top
Home > Archived > हिंसा के चलते अतिरिक्त पुलिसबल तैनात

हिंसा के चलते अतिरिक्त पुलिसबल तैनात

हैदराबाद। आंध्र के पूर्वी गोदावरी जिले में आरक्षण की मांग को लेकर जारी आंदोलन के हिंसक रुप धारण करने के बाद इलाके में सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने के लिये अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया है। कापू समुदाय के लोग अन्य पिछड़ा वर्ग के तहत आरक्षण की मांग कर रहे हैं, कल यहां समुदाय के लोगों ने तुनी क्षेत्र में यात्री ट्रेन, पुलिस चौकी, पुलिस वाहनों और निजी वाहनों में आग लगा दी थी।
मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने विजयवाड़ा में मंत्रियों और अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके का जायजा लेने के लिए वहां पहुंचे । मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबु नायडू ने कापू समुदाय की मांग को स्वीकारे जाने का आश्‍वासन दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह कापू समुदाय को अन्य पिछड़ी जातियों के हितों को आहत किये बिना आरक्षण देंगे। इस आश्‍वासन के चलते कापू समाज के लोगों ने अपना प्रदर्शन खत्‍म कर दिया है। इसके बाद कहा जा रहा है कि जिले में स्थिति अब नियंत्रण में है।
वहीं मुख्य विपक्षी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस के नेता गुथाम रेड्डी ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री ने समुदाय के लोगों के साथ वादा खिलाफी की है। कल के घटनाक्रम को उन्होंने राज्य सरकार की विफलता माना है।
एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार 10-15 पुलिसकर्मी घायल हैं। किसी के मारे जाने की खबर नहीं है। बड़ी संख्या में सुरक्षा बल यहां पहुंच गए हैं। हम हर जगह बलों की तैनाती कर रहे हैं। हमने कल पुलिसकर्मियों को रोक दिया था। हमें इतने बड़े स्तर पर हिंसा होने की उम्मीद नहीं थी।
वहीं राज्य के निकाय प्रशासन मंत्री पी नारायण ने आंदोलन के नेता और पूर्व मंत्री मुद्रागडा पदमनाभम को इस आंदोलन को लोकतांत्रिक एवं शांतिपूर्ण ढंग से संचालित न करने का दोषी ठहराया।
पिछड़े वर्ग के तहत आरक्षण की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे कापू समुदाय के सदस्य कल हिंसक हो उठे थे। उन्होंने उपद्रव मचाते हुए तुनी स्टेशन पर रत्नाचल एक्सप्रेस के चार डिब्बों को आग के हवाले कर दिया था और पूर्वी गोदावरी जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-16 को जाम कर दिया गया था।

Updated : 2016-02-01T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top