Top
Home > Archived > सोलह घण्टे कोहरा, दृश्यता शून्य

सोलह घण्टे कोहरा, दृश्यता शून्य

सोलह घण्टे कोहरा, दृश्यता शून्य

दोपहर बाद निकली धूप से मिली राहत

ग्वालियर। सर्दी बढऩे के साथ अब कोहरा भी घना होने लगा है। ग्वालियर महानगर में बुधवार रात आठ बजे से गुरुवार को दोपहर 12 बजे तक करीब 16 घण्टे तक कोहरा छाया रहा। कोहरे के दौरान बुधवार की रात में दृश्यता शून्य रह गई थी। इसके चलते गुरुवार सुबह तक सडक़ों पर वाहन रेंगते नजर आए।

ग्वालियर में कोहरे ने दोबारा दस्तक दी है। विगत बुधवार को दिन भर छाया रहने के बाद गुरुवार को कोहरा और घना हो गया। हालत यह थी कि आज जो लोग सुबह की सैर पर सडक़ों पर निकले, उनके कपड़े ओश की बूंदों से गीले हो गए। कोहरा घना होने के कारण आज सुबह नौ बजे तक दृश्यता महज 50 मीटर तो दोपहर 12 बजे तक मात्र 200 मीटर थी। दोपहर 12 बजे के बाद जब कोहरा छटा, उसके बाद सूरज के दर्शन हुए और धूप निकली, तब सर्दी से कुछ राहत मिली।

मौसम विभाग के अनुसार गतरोज की तुलना में आज अधिकतम तापमान 3.2 डिग्री बढक़र 23.6 डिग्री दर्ज किया गया, जो औसत से 1.6 डिग्री अधिक है, जबकि न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री लुढक़ कर 10.5 डिग्री पर आ गया, जो औसत से 2.8 डिग्री अधिक है। इसी प्रकार हवा में नमी सुबह 98 और शाम को 86 फीसदी दर्ज की गई, जो सामान्य से क्रमश: 31 व 36 फीसदी अधिक है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को भी ग्वालियर सहित दतिया, भिण्ड, मुरैना, श्योपुर, शिवपुरी आदि जिलों में कोहरा छाए रहने की संभावना जताई है।

और बिगड़ी ट्रेनों की चाल,गोंडवाना रद्द
नहीं चलीं ताज एक्सप्रेस और बीना पैसेंजर

कोहरे के कारण रेलगाडिय़ों की चाल बिगड़ गई है। इसके चलते जहां लम्बी दूरी की गाडिय़ां चार से 14 घंटे की देरी से चल रही हैं तो कुछ गाडिय़ों को रद्द करना पड़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि कोहरे के कारण शटल पहले से ही रद्द चल रही थी तो बीना पैसेंजर और ताज एक्सप्रेस गुरुवार को नहीं चलने की घोषणा बुधवार को ही कर दी गई थी,लेकिन कोहरे को देखते हुए गोंडवाना एक्सप्रेस नहीं आई। रेलवे ने गोंडवाना को 9 और 11 दिसंबर को भी रद्द कर दिया है। कोहरे के कारण इटावा से आने वाली लिंक एक्सप्रेस झांसी 5.20 घंटे की देर से झांसी पहुंची। इस कारण यह ट्रेन रात झांसी से रात 8.40 बजे चलकर रात 11 बजे ग्वालियर आई। इस कारण इंदौर इंटरसिटी शाम 7.30 बजे की बजाय रात 11.30 बजे के बाद रवाना हुई। श्रीधाम एक्सप्रेस, पातालकोट, पठानकोट एक्सप्रेस, शताब्दी , ताज पंजाब मेल,जीटी, छत्तीसगढ़ सहित करीब दो दर्जन से अधिक ट्रेनें शुक्रवार को भी देर से ग्वालियर आएंगी। इसी तरह भोपाल से आने वाली शताब्दी भी रात 11.30 बजे के बाद आई। कोहरे के कारण दिल्ली की ओर से आने वाली श्रीधाम एक्सप्रेस 15.35 घंटे, उत्कल 10.50 घंटे, जीटी 10.15 घंटे, तमिलनाडु व गोवा एक्सप्रेस 9.30 घंटे, पातालकोट, कर्नाटक 8 घंटे, शताब्दी 2.42 घंटे देर से आई। इसके अलावा मालवा एक्सप्रेस, भोपाल एक्सप्रेस, दादर -अमृतसर एक्सप्रेस, दक्षिण एक्सप्रेस, पंजाब मेल, छत्तीसगढ़, कोल्हापुर -निजामुद्दीन एक्सप्रेस,हीराकुंड, खजुराहो इंटरसिटी, झेलम, सचखंड, ओखा , जबलपुर कटरा , महाकौशल एक्सप्रेस आदि ट्रेन 2.30 घंटे से 7 घंटे की देरी से ग्वालियर आईं। इसी तरह भोपाल की ओर से आने वाली जबलपुर -दिल्ली एक्सप्रेस 17.40 घंटे,जीटी एक्सप्रेस 14.22 घंटे, गोवा एक्सप्रेस 11.40 घंटे, गोंडवाना एक्सप्रेस 10.56 घंटे, सचखंड एक्सप्रेस 8.15 घंटे, हबीबगंज एक्सप्रेस 7.20 घंटे देर से ग्वालियर आई। इसके अलावा जबलपुर -निजामुद्दीन एक्सप्रेस, तमिलनाडु एक्सप्रेस, तेलंगाना एक्सप्रेस, एमपी संपर्क क्रंांति , उज्जयनी एक्सप्रेस, कर्नाटक एक्सप्रेस, मंगला, केरला, पंजाब मेल, छत्तीसगढ़ सहित अधिकांश ट्रेनें 1 घंटे से लेकर 6 घंटे की देरी से ग्वालियर आर्इं।

Updated : 2016-12-09T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top