Top
Home > Archived > हेरिटेज में बदलेंगी शहर की तीन पुरानी इमारतें

हेरिटेज में बदलेंगी शहर की तीन पुरानी इमारतें

हेरिटेज में बदलेंगी शहर की तीन पुरानी इमारतें

पर्यटन विभाग ने किया सराफा बाजार, जनकगंज, मुरार की इमारतों का चयन




ग्वालियर।
ग्वालियर संभाग में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग ने यह योजना बनाई है कि जितनी भी हेरिटेज इमारतें हैं, उन्हें पर्यटकों के लिए उपयोगी बनाया जाए। इसके लिए विभाग द्वारा ग्वालियर सहित प्रदेश भर में ऐसी इमारतों की सूची बनाई जा रही है, जो ऐतिहासिक महत्व की और हेरिटेज इमारत में शुमार हों। इसमें देशी व विदेशी पर्यटकों को पुरानी थीम की झलक भी देखने को मिलेगी। पर्यटन विभाग इन इमारतों में होटल संचालित करेगा। जानकारी के अनुसार सराफा बाजार एवं जनकगंज स्थित छत्री मण्डी और मुरार के रिसाला बाजार के पास तीन ऐसी इमारतों को चुना गया है, जो स्टेट समय की हैं। इन इमारतों को हेरिटेज लुक देकर पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।

पर्यटन विभाग ने बनाई योजना
उल्लेखनीय है कि ग्वालियर शहर सहित संभाग भर में बड़ी संख्या में ऐसी पुरानी इमारतें हैं, जो स्टेट समय की हैं। पर्यटन विभाग की योजना है कि ऐसी इमारतों को हेरिटेज में बदलकर कायाकल्प किया जाए। शासन ने विभाग को निर्देश दिए हैं कि ऐसी पुरानी इमारतों को चिन्हित करें, जिन्हें हेरिटेज लुक में बदला जा सकता है। पर्यटन विभाग को मिले निर्देश के बाद ऐसी इमारतों की सूची तैयार की जा रही है।

पर्यटकों की संख्या बढ़ाने का लिया निर्णय
पर्यटन विभाग की इसके पीछे मंशा यह है कि प्रदेश भर में देशी और विदेशी पर्यटकों की संख्या बढ़ाई जाए, ताकि राजस्व भी मिल सके और पर्यटकों को वो सभी सुविधाए मिलें, जो अब तक राजस्थान के हेरिटेज होटलों में उन्हें मिल रही हैं। विभाग से जानकारी मिली है कि इस योजना में वे शहर भी शामिल किए जाएंगे, जो ऐतिहासिक महत्व के हैं और जहां पर्यटकों की संख्या बहुत कम है। इनमें ग्वालियर चम्बल संभाग के कुछ जिले भी शामिल हो सकते हैं। म.प्र. पर्यटन विकास निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक आर.के. राय बताते हैं कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विभाग ने योजना बनाई है। अगर किसी के पास पुरानी इमारत है तो उसे भी हेरिटेज लुक दिया जा सकता है, ताकि पर्यटकों की संख्या में वृद्धि हो सके।

Updated : 2016-12-23T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top