Top
Home > Archived > केडी मेडिकल कॉलेज के शिविर में हुआ 253 मरीजों का नि:शुल्क उपचार

केडी मेडिकल कॉलेज के शिविर में हुआ 253 मरीजों का नि:शुल्क उपचार

मथुरा। केडी मेडिकल कालेज-हॉस्पिटल और रिसर्च सेण्टर द्वारा सोमवार को गांव खायरा (छाता) में लगाए गए चिकित्सा शिविर में 253 मरीजों का विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा नि:शुल्क उपचार किया गया। 16 गम्भीर रूप से पीडि़त मरीजों को हॅास्पिटल लाकर विभिन्न जांचों के बाद उनका उपचार प्रारम्भ कर दिया गया है। शिविर का शुभारम्भ जाने-माने हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. डीआर गलफट, बृषभान पाण्डेय पूर्व मैनेजर श्री शोभरी इंटर कालेज खायरा, जगदीश पाण्डेय और पंडित सीताराम लवानियां रामलीला मैनेजर द्वारा माँ सरस्वती के छायाचित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर किया गया।

गांव खायरा में सुबह 11 बजे से अपराह्न साढ़े तीन बजे तक चले चिकित्सा शिविर में केडी मेडिकल कालेज-हॉस्पिटल और रिसर्च सेण्टर के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा 253 महिला, पुरुषों और बच्चों का परीक्षण कर उन्हें नि:शुल्क दवाएं वितरित की गई। 16 गम्भीर रूप से पीडि़त मरीजों को हॉस्पिटल लाकर उनका विभिन्न जांचों के बाद उपचार शुरू कर दिया गया है। गौरतलब है कि केडी हॉस्पिटल द्वारा जनपद और उसके आसपास के मरीजों को चिकित्सा लाभ देने की खातिर न केवल लगातार नि:शुल्क शिविर लगाए जा रहे हैं बल्कि मरीजों की जांचें भी मुफ्त में की जा रही हैं। इतना ही नहीं मरीजों के भोजन आदि की व्यवस्था भी नि:शुल्क है। जाने-माने हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. डीआर गलफत की देखरेख में लगे इस शिविर में डा. बीपी सिंह भदौरिया, डा. सौरभ अग्रवाल, डा. संजीव कुमार, डा. चन्द्र प्रकाश, डा. जेवी देशपाण्डेय, डा. अली अंसारी, डा. मनजीत सिंह, डा. ज्योत्सना, अमित गोस्वामी, बांके बिहारी पाण्डेय, घनश्याम सिंह, दीप्ति शर्मा, प्रदीप, चन्द्रवती आदि ने सहयोग प्रदान किया।

आरके एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि केडी मेडिकल कालेज-हॉस्पिटल और रिसर्च सेण्टर जनपद और उसके आसपास के स्वास्थ्य पीडि़तों को बेहतर से बेहतर चिकित्सा लाभ दिलाने को संकल्पबद्ध है। हम चाहते हैं कि जनपद के लोगों को उपचार के लिए कहीं और न जाना पड़े। प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल का कहना है कि केडी हॉस्पिटल का उद्देश्य सेवाभाव है। शिविरों के माध्यम से केडी हॉस्पिटल मरीजों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य लाभ देने को प्रतिबद्ध है। इन शिविरों के माध्यम से अब तक जनपद और उसके आसपास के हजारों मरीज लाभान्वित हो चुके हैं।

Updated : 2016-11-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top