Top
Home > Archived > कैदी की मौत पर हंगामा, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

कैदी की मौत पर हंगामा, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

कैदी की मौत पर हंगामा, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

डीएम, एसएसपी व सीएमओ पहुंचे मौके पर


झांसी । जिला कारागार में देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। इस पर कैदियों ने हंगामा कर दिया। मामले की जानकारी होने पर पुलिस व प्रशासन के आला अफसरों ने पहुंचकर मौके का जायजा लिया। मृतक कैदी के परिजनों ने जेल प्रशासन की मिली भगत के चलते हत्या का आरोप लगाया है।

सीपरी थाना क्षेत्र स्थित केशवपुर गांव निवासी राजू मिश्रा और उसका भाई संजीव मिश्रा 2013 के चर्चित यादव हत्याकांड में जिला कारागार की बैरक नम्बर 7 में निरुद्ध थे। मंगलवार/बुधवार की रात अचानक राजू की तबियत खराब हो गई। इस पर जेल प्रशासन ने उसका पहले स्थानीय स्तर पर उपचार किया।
इस दौरान उसे कुछ इंजेक्शन दिए गए। जिससे उसकी हालत सुधरने के स्थान पर और बिगड़ गई। जिसके चलते उसे उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। जहां उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतक राजू के भाई संजीव ने आरोप लगाया कि जेल प्रशासन ने जो इंजेक्शन उसके भाई को दिया वह जहरीला था। इसी के चलते उसकी जान गई है। सुबह इसकी जानकारी तब हो सकी जब राजू की पत्नि मालती उससे मिलने पहुंची तो जेल प्रशासन ने उसे बताया कि वह तो बीमार होने के चलते मेडिकल में भर्ती है। जबकि उसकी उस समय तक मौत हो गई थी। इस पर जेल के तमाम कैदियों ने एक साथ विरोध करते हुए हंगामा कर दिया। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई।

सूचना पर डीआईजी शरद सचान और एसएसपी अब्दुल हमीद समेत तमाम पुलिस अधिकारी जा पहुंचे। सभी ने मामले को संभालने का बहुत प्रयास किया। लेकिन हंगामा इस पर थमा कि जेल प्रशासन कर्मी और मिली भगत वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ जहर देकर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया जाए।

अधिकारियों ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के निर्देश दिए। यही नहीं पोस्टमार्टम के लिए पैनल गठित किया गया। मामले की जानकारी पर जिलाधिकारी अजय शुक्ला ने भी मौके का मुआयना किया। हालांकि समाचार लिखे जाने तक शव का पोस्टमार्टम नहीं हो सका था।

Updated : 2016-10-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top