Latest News
Home > Archived > मेड इन इंडिया : अशोक लिलैंड ने लॉन्च की पहली पूर्ण इलेक्ट्रिक बस

मेड इन इंडिया : अशोक लिलैंड ने लॉन्च की पहली पूर्ण इलेक्ट्रिक बस

मेड इन इंडिया : अशोक लिलैंड ने लॉन्च की पहली पूर्ण इलेक्ट्रिक बस
X



हिंदुजा समूह की फ्लैगशिप अशोक लिलैंड ने सोमवार को देश की पहली सर्किट इलेक्ट्रिक बस लॉन्च की है। खास बात यह है कि इसका निर्माण भारत में हुआ है और इसकी डिजाइन भी भारत में और भारत के लिए बनी है। पूरी तरह से मेड इन इंडिया बस एक बार फुल चार्ज करने पर यह 120 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है।

कंपनी ने इसे सपनों के अनुरूप, देश की पहली ‘मेड इन इंडिया’ 100 प्रतिशत इलेक्ट्रिक बस करार दिया है। कंपनी का दावा है कि शून्य उत्सर्जन करने वाली इस बस को खास तौर पर भारतीय सड़कों और भार स्थितियों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। वाहनों की यह नई सर्किट रेंज विभिन्न प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया जायेगा।

इस अवसर पर तमिलनाडु सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव( उद्योग और वाणिज्य) अम्बुज शर्मा ने कहा, ‘‘एक राज्य के रूप में आज हमारे के लिए एक अत्यंत महत्वपूर्ण दिन है। भारत की अब तक पूर्णतः इलेक्ट्रिक बस भारत के लिए विकसित एवं तैयार की गई है और यह सार्वजनिक परिवहन की दिशा में बढ़ाया गया एक बड़ा कदम है। हमें खुशी है कि अशोक लिलैंड इसे कर पाने में सक्षम रहा है। यह वाहन भारत में ईंधन के आयात पर आने वाले आठ लाख करोड़ के बिल को कम करने की सरकारी पहल में मददगार साबित होगा और यह हम सभी व हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए उज्जवल एवं अधिक स्वच्छ भविष्य का वादा है।’’

बस को शहरों का वातावरण बेहतर बनाने में योगदान देने वाली बताते हुए अशोक लिलैंड के प्रबंध निदेशक विनोद के. दासरी ने कहा, ‘‘बसों की सर्किट श्रृंखला, भारत और दुनिया के लिए उपयुक्त एवं सर्वोत्तम कोटि के समाधान उपलब्ध कराने हेतु भारत के तकनीकी नवाचार का प्रभावी तरीके से उपयोग हेतु अशोक लिलैंड की वचनबद्धता का एक और प्रमाण है। अप्रैल 2015 में, फेम इंडिया कार्यशाला में, हमने जनवरी‘17 तक पूर्णतः विद्युत चालित वाहन का वचन दिया था। मुझे इस निर्धारित सीमा से पहले ही इस नई सर्किट सीरीज में पहला वाहन लोकार्पित करने की खुशी है।

ग्लोबल बस के सीनियर वाईस प्रेसिडेंट टी. वेंकटरमण ने कहा, ‘‘सर्किट सीरीज के वाहन को पूरी तरह से विशेष रूप से भारतीय प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है, जो विभिन्न रास्तों, परिस्थितियों में उपयोग के लिए उपयुक्त है। फायर डिटेक्शन ऐंड सप्रेशन सिस्टम से युक्त, भारत का यह वास्तविक इनोवेशन एक बार फुल चार्ज करने पर 120 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है। यह आसान, मास-मार्केट प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है, जिससे परिचालक मामूली परिचालन एवं मेंटनेंस खर्च पर शहर के ग्राहकों को सेवा उपलब्ध करा सकते हैं।’’

Updated : 2016-10-17T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top